कोविड-19 के चलते खेल जगत से बुरी खबर, इस खिलाड़ी ने अपनी मां को खोया

कोविड-19 के चलते खेल जगत से बुरी खबर, इस खिलाड़ी ने अपनी मां को खोया

कोविड-19 वायरस ( Covid-19 ) की दूसरी लहर हिंदुस्तान पर कहर बनकर टूटी है देश में प्रतिदिन 4 लाख से अधिक लोग इस महामारी से संक्रमित हो रहे हैं, वहीं इसके चलते हजारों लोग अपनी जान भी गंवा रहे हैं खेल जगत से भी लगातार बुरी खबरें कोविड-19 के चलते ही सुनने को प्रतिदिन मिल रही हैं  

एटीके मोहन बागान (ATK Mohan Bagan) के गोलकीपर अरिंदम भट्टाचार्य (Arindam Bhattacharya) ने सोमवार को बोला कि उनकी मां के कई दिनों तक Covid-19 संक्रमण से जूझने के बाद कोलकाता में मृत्यु हो गया अरिंदम ने ट्विटर के जरिए अपनी मां अंतरा भट्टाचार्य के मृत्यु की सूचना दी

अरिंदम (Arindam Bhattacharya) ने ट्वीट किया, ‘आप इतनी शीघ्र चली गई मां लेकिन मुझे पता है कि आप बेहतर स्थान पर हो, हमारे लिए पापा का ध्यान रखो और दादा तथा मेरी तरफ से उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं देना अपना ध्यान रखना, जीवन के बाद हम फिर मिलेंगे 

अरिंदम (Arindam Bhattacharya) के क्लब एटीके मोहन बागान (ATK Mohan Bagan) ने भी उनकी मां के मृत्यु पर शोक जताया भारतीय सुपर लीग की शीर्ष डिविजन में खेलने वाले क्लब ने ट्वीट किया, ‘आज अरिंदम भट्टाचार्य की मां के मृत्यु का हमें बहुत दुख है हमारी प्रार्थनाएं अरिंदम और उनके परिवार के साथ हैं टीम आपके साथ है ’अरिंदम ने इससे पहले छह मई को अपनी मां की रोग को लेकर सोशल मीडिया पर चिंता जताई थी  

भारत को कोविड-19 वायरस ( Covid-19 ) की दूसरी लहर से मची तबाही का सामना करना पड़ रहा है पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन संक्रमण के चार लाख से अधिक नए मुद्दे सामने आ रहे हैं महत्वपूर्ण दवाओं और आक्सीजन की कमी से यह संकट और बढ़ गया है इसके चलते रोज हजारों लोग अपनी जान भी गंवा रहे हैं


पूर्व भारतीय लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन का खुलासा!

पूर्व भारतीय लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन का खुलासा!

नई दिल्ली: इंग्लैंड के 27 वर्षीय गेंदबाज ओली रॉबिन्सन (ollie robinson) ने 2 जून को न्यूजीलैंड के विरूद्ध टेस्ट में अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू किया. लेकिन उनका एक पूराना विवादित ट्वीट उनके कॅरियर पर भारी पड़ा. मुद्दे के तूल पकड़ने के बाद इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स क्रिकेट बोर्ड ने बड़ा निर्णय लेते हुए रॉबिन्सन को अंतर्राष्ट्रीय मैचों से निलंबित कर दिया. अब रंगभेद के मुद्दे पर भारतीय क्रिकेटर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन ((Laxman Sivaramakrishnan)) ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. जिसमें उन्होंने बताया कि कैसे उन्हें भी अपने कॅरियर में रंगभेद का सामना करना पड़ा था.

होटल में घुसने से रोक दिया था
टीम इंडिया के पूर्व लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन (Laxman Sivaramakrishnan) ने एक मीडिया हाउस को बताया कि उन्हें अपने ही देश में मुंबई के एक होटल में घुसने से रोक दिया था. उन्हें अपने क्रिकेट कॅरियर में रंगभेद का सामना करना पड़ा था. ओली रॉबिन्सन को लेकर पूछे गए प्रश्न पर शिवरामकृष्णन ने कहा, 'मैं 16 वर्ष का था तब मेरा भातरीय टीम चयन हुआ था. मेरे पहले दौरे से पहले मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में प्रवेश से मुझे रोक दिया गया था. होटल के एंप्लाई को लगा कि मैं 16 वर्ष का लड़का टीम इंडिया के लिए कैसे खेल सकता हूं और उसे इसलिए भी नहीं लगा होगा क्योंकि मेरा रंग काला था. उन्होंने बोला कि मुझे मेरे क्रिकेट कॅरियर में हर देश में रंगभेद का सामना करना पड़ा. मेरा अपमान किया गया.'

बुरे दौर में खेल पर पड़ता है इन चीजों का असर
शिवरामकृष्णन ने बोला कि जब तक आप अच्छा खेल रहे होते हैं तो इन चीजों का असर नहीं पड़ता है. लेकिन जब आउट ऑफ फॉर्म चल रहे होते हैं ये सब चीजें बहुत मैटर करती हैं. जब मैंने अपना अंतिम टेस्‍ट मैच खेला तब मेरी आयु 21 वर्ष की थी. ये कई चीजों का मिश्रण था. साधारण फॉर्म, आत्‍मविश्‍वास की कमी और दर्शकों द्वारा आपके साथ किया गया बेकार बर्ताव.

क्रिकेट बोर्ड्स को खिलाड़ियों से करनी चाहिए बात
भारत के पूर्व स्पिनर ने बोला कि क्रिकेट बोर्ड को रंगभेद के मामले पर अपने खिलाड़ियों से बात करनी चाहिए. उन्हें अवगत कराना चाहिए कि आपको कौनसे—कौनसे राष्ट्रों में खेलते समय रंगभेद का सामना करना पड़ सकता और इससे कैसे निटपना है. खासकर एशियाई राष्ट्रों के क्रिकेट बोर्ड्स को. पिछले वर्ष ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जब गेंदबाज मोहम्मद सिराज के साथ ऐसी घटना हुई तो पूरी टीम इंडिया एकजुट नजर आई. यह देखकर मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लगा.


अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका       चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर ताइवान के एयरस्पेस में भरी उड़ान       ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में कोरोना वायरस के प्रकोप के बावजूद लोगों को शहर छोड़ने की मिली अनुमति       जरायल ने गाजा पर किए हवाई हमले, सेना ने पुष्टि कर कहा...       कैलिफोर्निया में वैक्सीन जैकपॉट, जानें दस विजेताओं को मिलेगी कितनी धनराशि       नासा के रोवर परसिवरेंस ने मार्स पर देखी धरती पर मौजूद वॉल्‍केनिक रॉक जैसी चट्टान       दस वर्ष बाद पहली बार आज मिलेंगे बाइडन और पुतिन, तनातनी के बीच जानें       अब तक चोरी की घटना का कोई सुराग नहीं,पीड़ित परिवार से मिलकर जिला प्रधान ने जाना हाल-चाल, शहर की विधि व्यवस्था पर एसपी से करूंगी बात: शालिनी       भारतीय मूल की सरला विद्या बनीं अमेरिका में संघीय जज, बाइडन ने किया मनोनीत       सरला से बढ़ा भारत का मान, बाइडन ने किया कनेक्टिकट राज्‍य का संघीय जज मनोनीत, जानें       बाइडन ने पुतिन को कहा था 'हत्‍यारा', जानें- जिनेवा में उनसे मुलाकात के पूर्व कैसे पड़े नरम, कही ये बात       अंतरिक्ष में Manned Mission को तैयार चीन, कल रवाना होंगे तीन एस्‍ट्रॉनॉट्स       रेडिएशन लीकेज से चीन का इनकार, कहा...       पाक सेना प्रमुख बाजवा ने अफगानिस्तान के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ...       पाक की संसद में जमकर हुआ हंगामा, सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने एक दूसरे पर फेंके बजट के दस्तावेज       सिंध में पैसे देकर कोई कुछ भी कर सकता है, प्रांत में नहीं है सरकार जैसी कोई चीज- चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्‍तान       कुलभूषण जाधव मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई 5 अक्टूबर तक टाली       पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह       फेक न्यूज प्रसारित करने वालों पर सीएम योगी सख्त, बोले- संप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश नहीं स्वीकार