इटली का चाइना को उपकरण देना पड़ा भारी, जाने अब आई खरीदने की नौबत

इटली का चाइना को उपकरण देना पड़ा भारी, जाने अब आई खरीदने की नौबत

चाइना में जब कोरोना वायरस कहर बरपा रहा था, तब इटली ने आगे बढ़कर इस संकट भरी स्थिति में उसका साथ दिया था. उसने अपनी तरफ से कई मेडिकल उपकरण दान में दिए थे.

 अब जब इटली इस संकट के केन्द्र में है, चाइना वही उपकरण इटली को वापस बेचना चाहता है. एक अमरीकी ऑफिसर ने इस बात का दावा किया है. बताते चलें कि चाइना में अब तक 3,329 लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि इटली में करीब चार गुना यानी 15 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है.

इटली ने उपकरण चाइना को दिए थे

ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने बोला कि चाइना ने इटली पर दबाव डाला है कि वह उसे दिए गए उपकरणों को खरीदे. ऑफिसर ने बोला कि यूरोप में कोरोना के आने से पहले इटली ने ये उपकरण चाइना को दिए थे. उसने इसे दान में दिया था ताकि वहां के लोगों को बचाया जा सके. चाइना ने इसमें से कुछ उपकरण वापस इटली भेजे व उसके लिए राशि भी ली.

50 हजार किट्स वापस

चीन हमेशा अपना लाभ सोचता रहा है. जहां की उसने मदद की सोची वह बेकार साबित हुई है. स्पेन ने चाइना से आईं 50 हजार किट्स वापस लौटा दीं क्योंकि वह डिफेक्टिव थीं. वहीं, नीदरलैंड्स ने शिकायत की है कि वहां भेजे गए मास्क सेफ्टी मानक से ठीक नहीं थे.

वायरस को फैलाने का आरोप

इस ऑफिसर ने चाइना पर दुनियाभर में वायरस को फैलाने का आरोप लगाया है. उसने चाइना पर जानकारी छिपाने का आरोप लगाया है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इससे पहले यही कह चुके हैं. ऑफिसर ने आरोप लगाया है कि पहले इस वायरस के बारे में जानकारी थी. करीब 50 हजार लोग अमरीका आए जो होने कि सम्भावना है अपने साथ वायरस लेकर आए.