चीन के विदेश मंत्री यांग यी ने अफगानिस्तान और नेपाल को दिया यह सुझाव

चीन के विदेश मंत्री यांग यी ने अफगानिस्तान और नेपाल को दिया यह सुझाव

भारत के साथ जारी सीमा विवाद के बीच चीन भारत के पड़ोसी मुल्कों को अपने साथ लामबंद करने में लगा हुआ है. चीन के विदेश मंत्री यांग यी ने सोमवार को पहली दफा पाकिस्तान, अफगानिस्तान और नेपाल के अपने समकक्षों के साथ वर्चुअल मीटिंग की. इस मीटिंग में कोरोना महामारी, वित्तीय सहायता और चीन की महत्वाकांक्षी परियोजना बेल्ट ऐंड रोड (OBOR) को लेकर चर्चा की गई.

चीन के विदेश मंत्री ने कोरोना महामारी पर नियंत्रण को लेकर पाकिस्तान और चीन की साझा पहल का उदहारण देते हुए कहा कि बाकी दोनों देशों को भी पाकिस्तान के मार्ग पर चलना चाहिए. वांग ने पाकिस्तान और चीन को आयरन ब्रदर्स बताते हुए दोनों देशों के सहयोग का उदाहरण दिया. वांग ने आगे कहा कि, अच्छा पड़ोसी मिलना खुशनसीबी है. वांग ने कहा कि चीन-पाकिस्तान के सहयोग से सीख लेते हुए अफगानिस्तान और नेपाल को भी कोरोना, वित्तीय गतिविधियों और आपसी संवाद को लेकर चीन के साथ साझा पहलें आरंभ करनी चाहिए. 

चीन के विदेश मंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के खिलाफ चारों देशों को सहयोग करना चाहिए और जल्द से जल्द एक-दूसरे के लिए सहायता के मार्ग खोलने चाहिए. चीन के विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी की गई प्रेस रिलीज के अनुसार, इस बैठक में अफगानिस्तान के कार्यवाहक विदेश मंत्री मुहम्मद हनीफ आत्मार और नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली शामिल हुए।  हालांकि, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी बैठक में मौजूद नहीं रह सके और पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व आर्थिक मामलों के मंत्री मकदूम खुसरो बख्तियार ने किया. हालांकि, कुरैशी ने मीटिंग में अपना संदेश जरूर भेजा था.