चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर ताइवान के एयरस्पेस में भरी उड़ान

चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर ताइवान के एयरस्पेस में भरी उड़ान

मंगलवार को चीनी एयरफोर्स के तकरीबन 28 विमान ताइवान के एयर डिफेंस आइडेन्टिफिकेशन जोन (AIDZ) में घुस आए। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि चीन ने देश में 28 लड़ाकू विमान भेजे हैं। मंगलवार को अब तक सबसे ज्यादा संख्या में एक ही दिन में ऐसे विमान चीन ने भेजे हैं। मंत्रालय ने बताया कि पिछले साल से पेइचिंग के लड़ाकू विमान हर दिन देश की तरफ उड़ान भर रहे हैं, लेकिन कल सबसे अधिक संख्या में विमानों ने उड़ान भरी।

इस मुद्दे पर अभी तक बीजिंग की तरफ से कोई टिप्पणी नहीं की गई है। यह ऐसे समय पर हुआ है जब हाल ही में जी-7 देशों ने ताइवान के मुद्दे पर चीन को निशाने पर लिया था। जी-7 देशों ने एक संयुक्त बयान जारी कर ताइवान जलडमरूमध्य मुद्दे को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाने का आह्वान किया था। उधर, दो दिन पहले अमेरिका ने भी चीन से ताइवान के खिलाफ दबाव खत्म करने का आह्वान किया था और जलडमरूमध्य समस्या का शांतिपूर्ण समाधान करने को कहा था।


ताइवान ने हाल के महीनों में द्वीप के पास चीन की वायु सेना द्वारा दोहराए गए मिशनों की शिकायत की है, जो ताइवान-नियंत्रित प्रतास द्वीप समूह के पास इसके वायु रक्षा क्षेत्र के दक्षिण-पश्चिमी भाग में केंद्रित है। ताइवान जलडमरूमध्य में तनाव बढ़ता जा रहा है। ताइपे के वायु रक्षा पहचान क्षेत्र में लगभग दैनिक घुसपैठ के साथ, चीन ने ताइवान के खिलाफ राजनीतिक दबाव और सैन्य खतरों को बढ़ा दिया है। दूसरी ओर, ताइपे ने अमेरिका सहित लोकतंत्रों के साथ रणनीतिक संबंधों को बढ़ाकर चीनी आक्रामकता का मुकाबला किया है, जिसका बीजिंग द्वारा बार-बार विरोध किया गया है।


पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान के रहीम यार खान जिले के भोंग क्षेत्र में उन्मादी भीड़ द्वारा एक हिंदू मंदिर में तोड़-फोड़ की घटना के बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। इसे देखते हुए इलाके में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात कर दी गई है। रहीम यार खान जिला पुलिस के प्रवक्ता अहमद नवाज ने बताया कि पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सांसद और हिंदू समुदाय के नेता रमेश कुमार वंकवानी ने इस घटना के वीडियो साझा किए। इन वीडियोज में भीड़ मंदिर के बुनियादी ढांचे को नष्ट करती नजर आ रही है। इतना ही नहीं मंदिर की मूर्तियों के साथ भी तोड़-फोड़ मचाई गई है। एक अन्य वीडियो में उन्मादी भीड़ मंदिर से सटी सड़क पर लाठी-डंडे लेकर दौड़ती दिख रही है। रमेश कुमार ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट की और कहा कि शुरुआत में पुलिस की धीमी प्रतिक्रिया के कारण स्थिति और मंदिर को नुकसान पहुंचा है। बता दें कि हाल के वर्षों में, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के पूजा स्थल पर हमलों में वृद्धि हुई है। अपने अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा करने में असफल पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा बार-बार फटकार भी लग चुकी है।