रविशंकर का विजय हजारे ट्रॉफी के लिए चयन

रविशंकर का विजय हजारे ट्रॉफी के लिए चयन

मुजफ्फरपुर बिहार के छोटे-छोटे शहरों से भी अब क्रिकेटरों की नयी पौध तैयार हो रही है इससे इन शहरों के युवाओं की प्रतिभा को क्रिकेट की दुनिया में पहचान और सम्मान दोनों मिलने लगी है मुजफ्फरपुर के भारती क्लब के खिलाड़ी रविशंकर एक पायदान आगे बढ़ गए हैं रविशंकर ने बीसीसीआई के द्वारा आयोजित विजय हजारे ट्रॉफी के लिए बिहार टीम में अपनी स्थान बनाई है विजय हजारे ट्रॉफी में रविशंकर के चयन के बाद भारती क्लब और मुजफ्फरपुर के क्रिकेटरों में काफी उत्साह है

युवा रविशंकर तेज गेंदबाजी करते हैं उनके विजय हजारे ट्रॉफी के लिए बिहार टीम में जगह बनाने से मुजफ्फरपुर क्रिकेट को इंटरनेशनल क्रिकेट के लिए बड़ी आशा जगी है रविशंकर से पहले भारती क्लब के ही विकास रंजन विकेटकीपर के तौर पर बिहार टीम से विजय हजारे ट्रॉफी के लिए खेल रहे हैं क्लब के सचिव जेपी ने बताया कि रविशंकर के चयन के बाद क्लब के खिलाड़ियों का उत्साह पहले से काफी अधिक बढ़ा है रविशंकर जैसे खिलाड़ी हमारे क्लब के लिए रोल मॉडल हैं रविशंकर काफी मेहनती खिलाड़ी है ग्राउंड पर उसने कभी ढिलाई नहीं की सचिव ने बताया कि हमें आशा है कि वो एक दिन राष्ट्र के लिए खेलेगा

1980 से क्रिकेटरों को तैयार कर रहा भारती क्लब

भारती क्लब के सदस्य संजय वर्मा ने बताया कि मुजफ्फरपुर में यह क्लब साल 1980 से क्रिकेट खिलाड़ियों को तैयार कर रहा है इस क्लब से निकले कई खिलाड़ी पहले भी रणजी ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी के लिए खेल चुके हैं संजय वर्मा ने बताया कि रविशंकर के चयन से हम सभी का उत्साह बढ़ा है मुजफ्फरपुर जैसे शहर में इतने अभावों के बावजूद हम मेहनत के दम पर क्रिकेटरों को तैयार करते रहे हैं मुजफ्फरपुर का भारती क्लब शहर के पुराने क्रिकेट क्लबों में से एक है

LS कॉलेज ग्राउंड पर होती है सुबह-शाम प्रैक्टिस

मुजफ्फरपुर के लंगट सिंह कॉलेज के ग्राउंड पर भारती क्लब के खिलाड़ी सुबह-शाम खेलते हैं इस क्लब में अभी लगभग 80 से 85 खिलाड़ी हैं, जो दिन-रात एक कर भारतीय टीम में स्थान बनाने का सपना देख रहे हैं