यूएई के अस्पताल में 30,493 डॉलर बिल के साथ फंसी भारतीय महिला, ऐसे हुआ धोखा

यूएई के अस्पताल में 30,493 डॉलर बिल के साथ फंसी भारतीय महिला, ऐसे हुआ धोखा

संयुक्त अरब अमीरात में एक बेरोजगार भारतीय महिला यात्री को आर्थिक मदद की सख्त जरूरत है ताकि वह वह अपने अस्पताल के बकाया बिल 112,000 दिरहम (30,493 डॉलर) का भुगतान कर सके। सोमवार को एक मीडिया रपट में इसका खुलासा हुआ है। गल्फ न्यूज की रिपोर्ट में कहा गया है कि पश्चिम बंगाल की रहने वाली 27 साल की सुतपा पात्रा को कोलाइटिस, पैन्क्रियाटाइटिस और सेप्सिस जैसी कई गंभीर बीमारियों का इलाज कराना पड़ा है।

करामा नामक जगह में रहने के दौरान पेट में दर्द होने की शिकायत पर उनके साथ रहने वालों ने उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

पहले ही से डायबिटीज का शिकार होने के चलते उनकी स्थिति और भी गंभीर हो गई जिसके चलते जल्द से जल्द सर्जरी करनी पड़ी।

गल्फ न्यूज से बात करते हुए पात्रा ने कहा कि वह साल 2019 के नवंबर में तीन महीने के वीजा पर यूएई आई थी। उनके साथ धोखाधड़ी हुई क्योंकि जब वह यहां पहुंच गईं तब उन्हें बताया गया कि यहां कोई जॉब ही नहीं है।

भारत में एक एजेंट ने उन्हें होटल में शेफ का काम दिलाने की बात कही लेकिन उनके साथ धोखा किया गया। पात्रा से यहां एक परिवार में नौकरानी के तौर पर काम कराया गया। उन्होंने कहा कि उन्हें उनके काम के बदले तनख्वाह नहीं दी गई, सिर्फ दिन में एक बार खाना दिया जाता था।

पात्रा की देखभाल अब दुबई में बसे कुछ परिवारों द्वारा की जा रही है और उनमें से एक ने उनके लिए संयुक्त अरब अमीरात में नौकरी ढूंढने की भी कोशिश की है।

उन्होंने गल्फ न्यूज को बताया, "दुर्भाग्य से यूएई में कोरोना महामारी के कारण वर्क परमिट के लिए मेरे आवेदन को रद्द कर दिया गया। फरवरी के बीच में मेरा वीजा भी समाप्त हो गया। मैं बस इतना चाहती हूं कि मेरे हॉस्पिटल के बिल का भुगतान हो जाए और मैं घर वापस चली जाऊं।"


लोगों के गंदे बाथरूम साफ कर लखपति बनी नौकरानी, 3 दिन में सैलरी जान उड़ जाएंगे होश!

लोगों के गंदे बाथरूम साफ कर लखपति बनी नौकरानी, 3 दिन में सैलरी जान उड़ जाएंगे होश!

हममें से ज्यादातर लोग नौकरानियों को गरीब और निर्बल समझते हैं लोगों को लगता है कि जो पढ़-लिख नहीं पाए, वो मज़बूरी में दूसरों के घरों में कार्य करते हैं दूसरों के घरों में झाड़ू-पोंछा कर, बाथरूम और गंदे बर्तन धोकर किसी तरह अपना गुजारा करते हैं यदि आपको भी ऐसा लगता है तो शायद अमेरिका (America) के केटिया (Ketia) की स्टोरी जानने के बाद आपकी ग़लतफ़हमी दूर हो जाएगी केटिया ने लोगों के साथ अपने क्लीनिंग बिजनेस को डिस्कस कर जब उसकी इनकम बताई, तो सभी का मुंह खुला रह गया

केटिया ने औनलाइन लोगों के साथ अपनी इनकम डिस्क्लोज की उसने बताया कि लोग उसका मजाक उड़ाते हैं वो दूसरों के घरों के बाथरूम और टॉयलेट साफ़ करती है जब लोगों को इसका पता चलता है तो वो केटिया को इग्नोर करते हैं और उसे नीचा दिखाने की प्रयास करते हैं लेकिन केटिया को इन सबसे कोई फर्क नहीं पड़ता उसने बताया कि वो अपनी नौकरी से बहुत ज्यादा प्यार करती है उसे सफाई करना पसंद था इसलिए उसने इसे अपना प्रोफेशन बना लिया केटिया ने दावा किया है कि केवल तीन दिन में वो इस कार्य के जरिये 720 यूरो यानी लगभग 80 हजार रुपए कमा लेती है

लखपति नौकरानी ने सबका ध्यान खींच लिया

केटिया ने अपना क्लीनिंग बिजनेस स्टार्ट किया इसके अंदर उसे कर तो देना पड़ता है लेकिन उसकी इनकम अधिक है विदेशों में नौकरानियां कंपनी द्वारा हायर की जताई है इससे सेफ्टी का भरोसा रहता है लेकिन केटिया ने बताया कि दूसरी कंपनी द्वारा हायर होने पर ब्रोकर ही अच्छा ख़ासा पैसा खा जाता है इसलिए उसने स्वयं का क्लीनिंग बिजनेस स्टार्ट करने की सोची अब केटिया मात्र तीन दिन में अस्सी हजार तक कमा लेती है

बाथरूम साफ करते हुए वीडियो बनाती है ये नौकरानी

केटिया ने अपना एक टिकटोक एकाउंट भी बना रखा है उसपर वो लोगों बाथरूम और टॉयलेट साफ़ करती नजर आती है केटिया ने बताया कि वो ज्यादातर कार्य महंगे पॉश एरिया में करती है वहां इनकम बहुत ज्यादा अधिक है केटिया का वीडियो देखने के बाद लोगों ने आश्चर्य जताई कई लोगों ने कमेंट करते हुए लिखा कि वो अपनी प्राइवेट नौकरी छोड़ अब स्वयं का क्लीनिंग बिजनेस स्टार्ट करने की सोच रहे हैं देखते ही देखते केटिया वायरल हो गई है