शराब (Liquor) खरीदने के लिए विशेष पास जारी करने वाले प्रदेश सरकार ने लिया यह निर्णय

 शराब (Liquor) खरीदने के लिए विशेष पास जारी करने वाले प्रदेश सरकार ने लिया यह निर्णय

राब (Liquor) खरीदने के लिए विशेष पास जारी करने वाले प्रदेश सरकार के निर्णय पर गुरुवार को केरल (Kerala) हाई कोर्ट (Kerala High Court) ने तीन हफ्तों के लिए रोक लगा दी है। न्यायमूर्ति एके जयशंकरन नंबियार व न्यायमूर्ति शाजी पी चाली की पीठ ने प्रदेश सरकार को इस मुद्दे में जवाब दाखिल करने के लिए एक हफ्ते का वक्त दिया है।

दरअसल, डॉक्टरों ने नशे की लत के मद्देनजर आबकारी विभाग से लॉकडाउन के दौरान शराब खरीदने के लिए पास देने की सलाह दी थी, जिसके बाद प्रदेश सरकार ने उन्हें विशेष पास जारी करने का आदेश दिया था। जिसे केरल सरकार चिकित्सा आधिकारी संघ (केजीएमओए) समेत विभिन्न पक्षों ने हाई कोर्ट में याचिकाएं दायर कर इस आदेश को चुनौती दी थी, जिनपर न्यायालय ने यह निर्णय लिया।

बताते चलें कि लॉकडाउन के कारण सभी शराब के ठेके बंद थे। जिससे प्रतिदिन नशे के आदी लोगों को कठिनाई हो रही थी। इसी बजह से कुछ दिन पहले ही तीन लोगों ने शराब ना मिल पाने के कारण आत्महत्या कर ली थी। प्रदेश में ऐसी व घटनाएं ना हो, इसलिए सरकार ने लॉकडाउन के दौरान शराब के ठेकों को खोलने के आदेश पारित किए थे।  

आदेश में बोला गया है कि शराब से दूर रहने पर शारीरिक व मानसिक दिक्कतों का सामना कर रहे लोगों को डॉक्टरों के लिखित परामर्श पर 'नियंत्रित' व 'निर्धारित' ढंग से शराब मुहैया कराई जा सकती है। इसके लिए सरकार ने नशे के आदी लोगों के लिए विशेष पास मुहैया कराना का निर्णय किया था। हालांकि इसपर रोक लगाते हुए न्यायालय ने बोला कि सरकार के इस निर्णय का कोई वैज्ञानिक आधार नजर नहीं आता।