लखीमपुर काण्ड पर राजनीति ः केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी को लेकर प्रियंका गांधी ने रखा ‘मौन व्रत’

लखीमपुर काण्ड पर राजनीति ः केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी को लेकर प्रियंका गांधी ने रखा ‘मौन व्रत’

लखनऊ लखीमपुर खीरी मुद्दे में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ को बर्खास्त करने की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने सोमवार को ‘मौन धरना’ दिया केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा हिंसा के मुद्दे के आरोपी हैं प्रियंका गांधी लखीमपुर हिंसा मुद्दे में लगातार भाजपा पर दबाव बना रही हैं इसी कड़ी में मौन व्रत रखकर एक बार फिर उत्तर प्रदेश चुनाव के पहले प्रियंका गांधी ने सियासी सरगर्मी पैदा करने की प्रयास प्रारम्भ की

कांग्रेस के प्रतिनिधि ने बताया कि प्रियंका गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी नेता और कार्यकर्ता लखीमपुर खीरी मुद्दे में प्रदेश की राजधानी के जीपीओ पार्क में एकत्र हुए और महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने मौन धरने पर बैठ गए इस दौरान केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ को बर्खास्त करने की मांग की गई

पार्टी ने मुद्दे में स्वतंत्र और निष्पक्ष जाँच सुनिश्चित करने के लिए गृह प्रदेश मंत्री को बर्खास्त करने की मांग की है लखीमपुर हिंसा में तीन अक्टूबर को चार किसानों सहित आठ लोगों की मृत्यु हो गई थी प्रतिनिधि ने बताया कि उप्र कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा, विधान परिषद में नेता दीपक सिंह सहित कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ता और नेता सोमवार दोपहर जीपीओ पार्क में एकत्रित हुए और बाद में इसमें प्रियंका गांधी भी शामिल हो गईं

वाराणसी की रैली में भरी थी हुंकार

इससे पहले प्रियंका गांधी ने रविवार को वाराणसी में एक रैली को संबोधित करते हुए बोला था, ‘कांग्रेस कार्यकर्ता किसी से नहीं डरते, भले ही आप उन्हें कारागार में डाल दें या उनकी पिटाई करें हम तब तक लड़ते रहेंगे जब तक केंद्रीय प्रदेश मंत्री (अजय मिश्रा) इस्तीफा नहीं देते हमारी पार्टी ने देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी है और कोई हमें चुप नहीं करा सकता 

बीजेपी ने कसा तंज

कांग्रेस पार्टी के ‘मौन धरने’ पर प्रश्न उठाते हुए प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि सिद्धार्थनाथ सिंह ने बोला कि कानून अपना कार्य करेगा और किसी भी तरह के दबाव से प्रभावित नहीं होगा उन्होंने बोला कि यदि वे ‘मौन व्रत’ या प्रदर्शन करना चाहते हैं तो यह उनका लोकतांत्रिक अधिकार है कांग्रेस पार्टी का यह चलन है उन्होंने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का नाम लिये बिना बोला कि हमारे पीएम दस वर्ष से ‘मौन व्रत’ कर रहे थे हो सकता है कि यदि वे ‘मौन व्रत’ पर बैठें हैं तो वे पीएम बनने का सपना भी देख सकते हैं

सिंह ने कहा, ‘भाई-बहन (राहुल-प्रियंका) क्या करें? हम उन्हें गूगल मैप्स (नक्शा) भेज रहे हैं, जिसमें एक रास्ता राजस्थान को जाता है वहां एक दलित की मर्डर की गई थी और वे अभी तक वहां नहीं गए हैं, और दूसरा रास्ता छत्तीसगढ़ जाता है उन्हें अपने सीएम से पूछना चाहिए कि वहां किसानों की मर्डर क्यों की गई? वहां मौन व्रत क्यों नहीं होता? (भाषा के इनपुट के साथ)


UP विजय के लिए कांग्रेस पार्टी की प्रतिज्ञा यात्रा, प्रियंका गांधी ने बनाया ये प्लान

UP विजय के लिए कांग्रेस पार्टी की प्रतिज्ञा यात्रा, प्रियंका गांधी ने बनाया ये प्लान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जुटी कांग्रेस पूरे प्रदेश में आज से प्रतिज्ञा यात्रा निकालने जा रही है इसकी शुरूआत पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी (Priynaka Gandhi) बाराबंकी से करेंगी कांग्रेस पार्टी की तीन प्रतिज्ञा यात्रा आज तीन शहरों से रवाना होंगी इस यात्रा का मकसद प्रदेश के कोने-कोने तक कांग्रेस पार्टी को पहुंचाना है

यात्रा के लिए प्रदेश को तीन हिस्सों में बांटते हुए रूट तैयार किया गया है पहला रूट अवध के बाराबंकी और बुंदेलखंड के जिलों को मिलाकर झांसी तक और दूसरा रूट पश्चिमी और बृज क्षेत्र के विभिन्न जिलों के लिए तैयार किया गया है इसी प्रकार तीसरा रूट पूर्वाचल के लिए निर्धारित किया गया है

कांग्रेस की प्रतिज्ञा यात्रा के लिए बस का इस्तेमाल किया जा रहा है बाराबंकी के अतिरिक्त यात्रा दो अन्य शहरों सहारनपुर और वाराणसी से भी यात्रा निकलेंगी प्रदेश के 9 जिलों से गुजरने वाली दूसरी यात्रा बाराबंकी से प्रारम्भ होकर बुंदेलखंड में झांसी में समाप्त होगी तीसरी यात्रा पश्चिमी यूपी में सहारनपुर जिले से शुरुआत होगी और उसका समाप्ति मथुरा में होगा यह यात्रा 11 जिलों से गुजरेगी इन सभी यात्राओं का समाप्ति एक नवंबर को होगा

पूर्व सांसद और पार्टी के छत्तीसगढ़ के प्रभारी पीएल पुनिया ने बताया कि पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा तीनों यात्राओं का शुरुआत हरी झंडी दिखाकर बाराबंकी जिले से करेंगीं इस मौके पर प्रियंका गांधी वाड्रा पार्टी के सात संकल्पों के बारे में विस्तार से बताएंगीं