सोने की कीमतों में आज फिर आई गिरावट,त्योहारों से पहले हुुआ 6000 रुपये तक सस्ता

सोने की कीमतों में आज फिर आई गिरावट,त्योहारों से पहले हुुआ 6000 रुपये तक सस्ता

नई दिल्ली।  सोने की मूल्य (Gold Prices) में एक दिन की बढ़ोतरी के बाद आज फिर गिरावट देखने को मिल रही है। एमसीएक्स (MCX) पर दिसंबर का सोना वायदा 0.5 प्रतिशत गिरकर 50,386 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। तीन दिनों में यह सोने की दूसरी गिरावट है। पिछले सत्र में, सोना एक प्रतिशत यानी लगभग 500 रुपये बढ़ गया था, जबकि चांदी 1,900 रुपये प्रति किलोग्राम महंगी हुई थी। प्रातः काल आधे घंटे के कारोबार में इसने 50450 रुपये का न्यूनतम व 50559 रुपये का उच्चतम स्तर छुआ।  सात अगस्त के 56,200 रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के बाद सोने में बहुत ज्यादा उतार-चढ़ाव आया है। इस सप्ताह की आरंभ में यह 49,500 रुपये से नीचे चला गया था।



वैश्विक बाजारों में आज सोने की कीमतों में गिरावट देखी गई। हाजिर सोना 0.1 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,896.03 डॉलर प्रति औंस पर रहा। चांदी 0.2 प्रतिशत बढ़कर 24.22 डॉलर प्रति औंस हो गई है।

 पिछले महीने से अब तक 6800 रुपये तक सस्ता हुआ सोना
आपको बता दें कि पिछले महीने 7 अगस्त को सोने ने वायदा मार्केट में अपना उच्चतम स्तर यानी ऑल टाइम हाई छुआ था व प्रति 10 ग्राम की मूल्य 56,200 रुपये हो गई थी। वहीं पिछले सप्ताह शुक्रवार तक सोने ने 49,380 रुपये प्रति 10 ग्राम का न्यूनतम स्तर भी छू लिया। यानी तब से लेकर अब तक सोने की कीमतों में करीब 6,820 रुपये की गिरावट आई है। हालांकि, शुक्रवार को बंद होते-होते सोना कुछ रिकवर हुआ था।

वैसे तो ये वक्त सोना खरीदने के लिए बहुत अच्छा है, लेकिन सर्राफा मार्केट में कम मांग की वजह से भारी डिस्काउंट देने के बावजूद लोग पहले की तरह सोने की ओर आकर्षित नहीं हो रहे हैं।  सोने के डीलर ग्राहकों को सोने पर तगड़ा डिस्काउंट (Discount on gold in india) देकर मार्केट में डिमांड पैदा करने की प्रयास कर रहे हैं। 6 हफ्तों से लगातार ग्राहकों को सोने पर डिस्काउंट देने का सिलसिला जारी है। पिछले सप्ताह 5 डॉलर प्रति औंस यानी करीब 130 रुपये प्रति 10 ग्राम तक का डिस्काउंट दिया गया।

तो क्या इस बार फेस्टिव सीजन में कम बिकेगा सोना?
एक्सपर्ट्स का मानना है कि अक्टूबर-नवंबर के दौरान अमूमन सोने की मांग बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। इसकी वजह है फेस्टिव सीजन का आना। दीपावली के करीब सोना हमेशा चमकता है, लेकिन कोरोना की वजह से इस बार लोगों को आर्थिक तंगी झेलनी पड़ रही है, जिसका सीधा प्रभाव सोने की मांग पर पड़ा है।