Vivo Y55s की 4 दिसंबर को देगा दस्तक, लॉन्च से पहले कीमत और स्पेसिफिकेशन्स लीक

Vivo Y55s की 4 दिसंबर को देगा दस्तक, लॉन्च से पहले कीमत और स्पेसिफिकेशन्स लीक

Vivo Y55s स्मार्टफोन को चीन में लॉन्च के लिए लिस्ट कर दिया गया है। फोन को 4 दिसंबर को लॉन्च किया जाएगा। फोन को 3C अथॉरिटी पर मॉडल नंबर V2164A के साथ स्पॉट किया गया। साथ ही फोन को IMEI डेटाबेस पर लिस्ट किया गया है। इससे पहले फोन को चीनी टेलिकॉम वेबसाइट पर स्पॉट किया गया थात। जहां से Vivo Y55s स्मार्टफोन के स्पेसिफिकेशन्स और कीमत का खुलासा हो गया है।

Vivo Y55s स्पेसिफिकेशन्स

Gizmochina की रिपोर्ट के मुताबिक Vivo Y55s स्मार्टफोन को 163.87 x 75.33 x 9.17mm डायमेंशन और वजन 199 ग्राम है। फोन में एक 6.58 इंच LCD स्क्रीन दी गई है। फोन टियरड्रॉप नॉच डिस्प्ले के साथ आएगा। फोन में फुल एचडी प्लस रेजॉल्यूशन सपोर्ट दिया गया है। फोन के फ्रंट पैनल पर सेल्फी के लिए एक 8 मेगापिक्सल कैमरा दिया जाएगा। जबकि रियर में 50-मेगापिक्सल के साथ ही एक 2 मेगापिक्सल लेंस दिया गया है।

Vivo Y55s स्मार्टफोन को Dimensity 700 सपोर्ट के साथ पेश किया जाएगा। फोन सिंगल 8 GB रैम और 128 GB स्टोरेज सपोर्ट के साथ आएगा। Vivo Y55s में 6,000mAh की बड़ी बैटरी दी गई है। 3C लिस्टिंग के मुताबिक फोन 18W फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आएगा डिवाइस एंड्राइड 11 ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करेगा। फोन को ड्यूल सिम सपोर्ट के साथ पेश किया जा सकता है। साथ ही Wi-Fi, ब्लूटूथ, यूएसबी-सी पोर्ट, और एक 3.5mm ऑडियो जैक का सपोर्ट दिया गया है। फोन में एक साइड फिंगरप्रिंट स्कैनर सपोर्ट दिया गया है।

Vivo Y55s स्मार्टफोन को 297 डॉलर करीब 22,290 रुपये में लॉन्च किया जा सकता है। फोन मल्टीपल कलर्स जैसे सिरैमिक ब्लैक, मिरर लेक ब्लू और चेरी पिंक मिटिओर में आएगा।


बायोगैस एसोसिएशन ने सरकार से ‘बायोगैस उर्वरक कोष’ बनाने का आग्रह किया

बायोगैस एसोसिएशन ने सरकार से ‘बायोगैस उर्वरक कोष’ बनाने का आग्रह किया

नयी दिल्ली। इंडियन बायोगैस एसोसिशन (आईबीए) ने सरकार से पांच साल के लिए 1.4 लाख करोड़ रुपये के आरंभिक प्रावधान के साथ ‘बायोगैस उर्वरक कोष’ स्थापित करने का अनुरोध किया है। संगठन ने कहा है कि इससे पांच करोड़ किसानों को लाभ पहुंचेगा तथा कच्चे तेल के आयात पर होने वाला खर्च भी कम होगा। आईबीए ने एक बयान में कहा कि किफायती परिवहन के लिए टिकाऊ विकल्प (एसएटीएटी) योजना के तहत पांच हजार संयंत्रों के लक्ष्य को पूरा करने में इस तरह के कोष की स्थापना स्वागत योग्य कदम होगा।

संगठन के अध्यक्ष ए आर शुक्ला ने कहा, ‘‘सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के बारे में लगातार बात कर रही है। इस योजना से पांच करोड़ किसानों को फायदा पहुंचेगा। यह कोष बनने पर भारत जीवाश्म ईंधन का आयात कम कर सकेगा और किसानों को भी जैविक उर्वरक मिल सकेगा।’’ बायोगैस एसोसिशन ने शहरों में गैस वितरण नेटवर्क और प्राकृतिक गैस पाइपलाइन में बायोमीथेन (सीबीजी) के मिश्रण के लिए मात्रा को परिभाषित करने का भी सुझाव दिया है।

उसने कहा कि पहले पांच साल के लिए 5 प्रतिशत का एक अस्थायी मिश्रण कोटा तय किया जा सकता है। उसके बाद 10 साल में इसे धीरे-धीरे बढ़ाकर 10 प्रतिशत किया जा सकता है। आईबीए ने कहा कि जीएसटी परिषद ने बायोगैस संयंत्र से संबंधित उपकरण और उनके पुर्जों पर जीएसटी की दर पांच फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी करने की घोषणा की जिससे बायोगैस के उत्पादकों के लिए स्थिति चुनौतीपूर्ण हो जाएगी।