WHO के डायरेक्टर टेड्रोस एडनॉम गेब्रियेसस ने एक वर्चुअल बैठक को प्रतिनिधित्व करते हुए बोली यह बात

WHO के डायरेक्टर टेड्रोस एडनॉम गेब्रियेसस ने एक वर्चुअल बैठक को प्रतिनिधित्व करते हुए बोली यह बात

महामारी कोरोना वायरस का अब तक कोई इलाज प्राप्त नही हो पाया है। किन्तु दुनिया स्तर पर कोरोना वैक्सीन की खोज अभी भी जारी है। इन सबके मध्य दुनिया स्वास्थ्य संगठन ने संसार को आगाह करते हुए बताया है

कि होने कि सम्भावना है, कि कोरोना वायरस की रामबाण वैक्सीन कभी न प्राप्त हो सकें। WHO के डायरेक्टर टेड्रोस एडनॉम गेब्रियेसस एक वर्चुअल बैठक को प्रतिनिधित्व करते हुए ये बात कही है।

उन्होने अपने बयान में बताया कि 'कई दवा अभी अपने तीसरे चरण के ट्रायल का सामना कर रही है। जिससे आशा की जा रही है, कि जल्द ही इसकी अच्छा वैक्सीन मार्केट में उपलब्ध हो जाएगी। जिससे लोगों को कोरोना संक्रमण से निजात मिल सके। हालांकि वैसे अभी इसका कोई अच्छा इलाज नहीं है, व होने कि सम्भावना है कि प्रभावी उपचार कभी नहीं मिले।


विश्वस्तर में जारी कोरोना वैक्सीन की खोज पर गेब्रियेसस ने बताया, 'ऐसा लगता है कि हमें कोई अच्छा कोरोना दवा ना मिले या फिर ये बस कुछ माह के लिए ही काम करे। पर जब तक हम क्लिनिकल ट्रायल पूरा नहीं कर लेते, हमें इसके बारे में कुछ नहीं पता चल सकता। ' WHO प्रमुख ने लोगों से मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने, हाथ धोने व टेस्ट कराने जैसे तरीकों को जारी रखने का निवेदन किया। उन्होंने बताया, 'लोगों को स्पष्ट संदेश है कि आपको महामारी कोविड-19 के विरूध्द सारे तरीका करने होंगे। साथ ही मास्क को विश्वस्तर में एकजुटता का प्रतीक मान लेना चाहिए।