इस लालच में पुलिस के जाल में फंसा खूंखार डकैत

इस लालच में पुलिस के जाल में फंसा खूंखार डकैत

मध्यप्रदेश के छतरपुर के नौगांव ब्लॉक में एक वांछित खूंखार डकैत को पकड़ने के लिए पुलिस ने अनोखा उपाय निकाला. डकैत को दुल्हन दिलाने का लालच दिया गया. एक महिला पुलिस ऑफिसर ने फजीर् शादी की पेशकश कर डकैत को अरैस्ट किया. लोग महिला ऑफिसर व विभाग के 'आइडिया' की तारीफ कर रहे हैं.  मध्यप्रदेश पुलिस के लिए तीन वर्षों से भी अधिक समय से सिरदर्द रहे बालकिशन चौबे (55) की नाटकीय तरीका से हुई गिरफ्तारी ने सभी को चौंका दिया. 

बालकिशन रैकेट के डाकू छतरपुर के खजुराहो इलाके में ग्रामीणों को लूटते थे. बालकिशन के विरूद्ध मर्डर व लूट के कई मुद्दे दर्ज हैं, वह क्राइम करने के बाद यूपी में जाकर छिप जाता था. पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए कई बार छापेमारी की, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी. बालकिशन कई महीनों से छिपा हुआ था. हालांकि, छिपने से पहले उसने अपने कुछ परिचितों को उसके लिए दुल्हन ढूंढने को बोला था. 

 

छतरपुर नौगांव ब्लॉक के गैरोली चौकी की प्रभारी पुलिस उप-निरीक्षक माधवी अग्निहोत्री को उसे पकड़ने की जिम्मेदारी सौंपी गई. 30 वषीर्य माधवी को एक अनोखा विचार आया व उन्होंने अपनी एक पुरानी तस्वीर बालकिशन चौबे को मुखबिरों के माध्यम से वैवाहिक प्रस्ताव के साथ भेज दी.

 

नौगांव उप-पुलिस ऑफिसर (एसडीओपी) श्रीनाथ सिंह बघेल माधवी अग्निहोत्री के विचार से रोमांचित हुए व उन्होंने एसआई अतुल झा, मनोज यादव, एएसआई ज्ञान सिंह व तीन कांस्टेबल के साथ टीम का नेतृत्व करने के लिए उन्हें कहा.

नौगांव थाना क्षेत्र के सीमवर्ती उत्तर प्रदेश के गांव बिजोरी में गुरुवार को माधवी के साथ विवाह की वार्ता करने के लिए बालकिशन को बुलाया गया. उसके आने के कुछ देर बाद ही माधवी ने संकेत किया व इससे पहले कि डाकू अपनी देसी पिस्तौल तक पहुंच पाता, पुलिस टीम ने उसे दबोचकर अरैस्ट कर लिया.  उसे शुक्रवार को यहां की एक न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे कारागार भेज दिया गया है.