पानीपत फिल्म पर कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन

पानीपत फिल्म पर कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन

हरियाणा में भी पानीपत फिल्म को लेकर राजनीति गरमा गई है. हालांकि सरकार के मंत्रियों और विपक्ष के नेताओं ने साफ किया कि उन्होंने अब तक ये फिल्म नहीं देखी है. कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि इस तरह इतिहास के साथ छेड़खानी नहीं करनी चाहिए और ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश नहीं करना चाहिए. हुड्डा ने कहा, महाराजा सूरजमल एक बहादुर राजा थे, मैंने फिल्म देखी नहीं है कि किस तरह के तथ्य दिखाए गए हैं लेकिन अगर विरोध हो रहा है तो जांच कर फिल्म के उस हिस्से को हटाया जाना चाहिए.


इसी मामले में हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि सरकार की ओर से फिल्म न दिखाए जाने को लेकर कोई भी निर्देश नहीं दिया गया है लेकिन सरकार की नजर प्रदेश के कानून-व्यवस्था पर है. अनिल विज ने कहा कि जब तक मैं फिल्म देख नहीं लेता, तब तक उसके तथ्यों पर कुछ नहीं कह सकता. विज ने कहा, हमारी कोशिश बस यही है कि कानून व्यवस्था की स्थिति न बिगड़े.

हरियाणा सरकार की महिला और बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि फिल्मों में ऐतिहासिक लोगों का चित्रण इस तरह से नहीं किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, मैंने फिल्म अभी नहीं देखी है लेकिन अगर इसमें महाराजा सूरजमल के बारे में तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है तो ऐसा नहीं किया जाना चाहिए. किसी भी समाज के ऐतिहासिक व्यक्ति के बारे में इस तरह से बातें फिल्मों में नहीं दिखाई जानी चाहिए.