तेजस्वी यादव ने बिहार की जनता दल यूनाइटेड सरकार पर कसा तंज

तेजस्वी यादव ने बिहार की जनता दल यूनाइटेड सरकार पर कसा तंज

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने बिहार की जनता दल यूनाइटेड सरकार पर तंज कसा है. सोमवार को आरजेडी की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक के बाद आरजेडी के नेता और सूबे के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में तांडव राज है. प्रदेश में रोज हत्याएं हो रही हैं. बलात्कार जैसी घटनाएं आम बात हो गई हैं.

तेजस्वी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सरकार देश को आगे ले जाने की बजाय पीछे लेकर जा रही है. उन्होंने कहा कि बिहार में अपराध की जो स्थिति है, वह काफी गंभीर है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास ही होम डिपार्टमेंट है, लेकिन वह हरियाली यात्रा पर हैं और अपराधी यहां तांडव मचा रहे हैं. तेजस्वी ने कहा कि प्रदेश में प्रति दिन 100 हत्याएं और 50 बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं.

उन्होंने कहा कि सुशासन नाम की कोई चीज नहीं रह गई हैं. हरियाली यात्रा पर जाने से पहले मुख्यमंत्री अपराध हटाओ, बेरोजगारी हटाओ यात्रा पर जाते तो शायद अच्छा होता. एनआरसी पर बोलते हुए तेजस्वी ने कहा कि यह देश को तोड़ने का कानून है. यह मानवता के खिलाफ है और इसका हमलोगों ने शुरू से विरोध किया है. उन्होंने कहा कि सवाल यह पूछना है कि जो लोग पब्लिक से कमिटमेंट कर चुके थे. जिन बिंदुओं पर यह कमिटमेंट था कम्युनलिज्म, क्राइम और करप्शन यानी थ्री सी, आज हर जगह इससे समझौते हो रहे हैं.

मुख्यमंत्री को नहीं आम नागरिकों की चिंता

आरजेडी के युवा नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री को आवाम की चिंता नहीं है. अल्पसंख्यकों की चिंता नहीं है, किस तरह कानून के सहारे गुंडागर्दी हो रही है, नीतीश कुमार से पूछिए. उन्होंने कहा कि केवल और केवल कुर्सी के लालच में वह सब कर रहे हैं, उनको बस मुख्यमंत्री बने रहना है. तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार ने फिर से पलटी मारने का काम किया है. इस बार वह मुद्दे से पलटे हैं.

विधानसभा चुनाव के लिए रणनीति पर हुई चर्चा

तेजस्वी ने बताया कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में संगठन को मजबूत बनाने और प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी की रणनीति पर चर्चा की गई. उन्होंने कहा कि मंगलवार को खुले अधिवेशन में फैसलों से कार्यकर्ताओं को अवगत कराया जाएगा. मंगलवार को ही लालू प्रसाद यादव के 11 वीं बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की औपचारिक घोषणा की जाएगी. बता दें कि आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव ने जेल से अपना नामांकन दाखिल किया था.