लिस ने महिला के दोनों भाइयों को अरैस्ट करके घटना का किया पर्दाफाश

लिस ने महिला के दोनों भाइयों को अरैस्ट करके घटना का किया पर्दाफाश

कुशीनगर जिले के पडरौना कोतवाली क्षेत्र के सोहरौना निवासी महिला की मर्डर उसके सगे भाइयों ने की थी. गांव के ही एक पुरुष संग महिला का प्रेम संबंध चल रहा था, जिससे वह विवाह करना चाहती थी. इसी बात को लेकर टकराव होने पर मान-सम्मान के लिए सगे भाइयों ने रस्सी से गला कसकर उसकी मर्डर कर दी. मृत शरीर बाइक पर रखकर गन्ने के खेत के पास चकरोड (कच्चा रास्ता) पर फेंक दिया. बृहस्पतिवार को पुलिस ने महिला के दोनों भाइयों को अरैस्ट करके घटना का पर्दाफाश किया.

खेत में मिला था शव

मंगलवार की दोपहर सोहरौना गांव के सरेह में एक गन्ने के खेत के नजदीक चकरोड पर महिला का मृत शरीर मिला था. महिला के चेहरे पर खरोंच के निशान थे. उसके पास से दो दिन पूर्व खिरकिया बाजार से खरीदे गए गहने की रसीद पुलिस ने बरामद किया. महिला की पहचान सोहरौना निवासी रोशन की बेटी सलेहा खातून (22) के रूप में हुई.

पुलिस का खोजी कुत्ता मृत शरीर वाले जगह से सीधे महिला के घर पहुंचा. तभी पुलिस को इस घटना में किसी करीबी के शामिल होने का संदेह हुआ. जांच में सामने आया कि सोमवार की शाम महिला का घर पर टकराव हुआ था, जिसके बाद वह अचानक लापता हो गई. महिला के गायब होने पर परिजनों ने पुलिस को कोई सूचना नहीं दी.

घर में अक्सर होता था विवाद

इस मुद्दे में पुलिस को जानकारी मिली कि महिला का प्रेम संबंध गांव के ही एक पुरुष संग चल रहा था. वह उससे विवाह करना चाहती थी, लेकिन इसका विरोध महिला के सगे भाई नौशाद अंसारी और अमजद अली करते थे. वह अपने मान-सम्मान के लिए महिला को विवाह करने से मना कर रहे थे. इसी बात को लेकर अक्सर भाइयों और बहन के बीच घर में टकराव होता था.

टीम के साथ पहुंचे थे कोतवाल

सोमवार की शाम टकराव होने पर दोनों भाइयों नौशाद और अमजद अली ने रस्सी से महिला का गला कसकर मार डाला. उसके मृत शरीर को शाल में लपेटकर बाइक पर बीच में बैठाकर गन्ने के खेत के पास नजदीक फेंक आए. बृहस्पतिवार को पुलिस ने सिंहापट्टी के पास से आरोपी भाइयों को अरैस्ट कर लिया. वह कहीं भागने की प्रयास में लगे थे. तभी कोतवाल राज प्रकाश सिंह ने अपनी टीम संग वहां पहुंचकर उनको दबोच लिया.

एसपी कुशीनगर धवल जायसवाल ने बोला कि महिला की मर्डर उसके सगे भाइयों ने अपने मान-सम्मान के लिए की थी. दोनों को अरैस्ट करके न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उनको कारागार भेज दिया गया.