कानपुर काण्ड के मुख्‍य आरोपी विकास दुबे की गिरफ्तारी पर गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने दिया यह बड़ा बयान

कानपुर काण्ड के मुख्‍य आरोपी विकास दुबे की गिरफ्तारी पर गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने दिया यह बड़ा बयान

कानपुर काण्ड के मुख्‍य आरोपी विकास दुबे की उज्‍जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तारी पर मध्‍य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने उत्तर प्रदेश पुलिस पर तंज कसने जैसा बयान दिया.

 उन्‍होंने बोला कि यह मध्‍य प्रदेश पुलिस है, क्रिमिनल चाहे जितना बड़ा हो  किसी को छोड़ती नहीं है. विकास दुबे को हमने अरैस्ट कर लिया है. यह मध्‍य प्रदेश पुलिस की बड़ी कामयाबी है. 

जाहिर है उत्तर प्रदेश के मोस्‍ट वांटेड अपराधी के प्रदेश की सीमाओं से सुरक्षित बाहर निकल जाने व उज्‍जैन तक पहुंच जाने को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस पर तमाम सवाल उठ रहे हैं. इस बीच मध्‍य प्रदेश के गृहमंत्री का यह बयान भी लोगों को उत्तर प्रदेश पुलिस पर  एक तंज की तरह लगा. पिछले सात दिन से उत्तर प्रदेश पुलिस व एसटीएफ की 60 से अधिक टीमें विकास दुबे को खोजने में लगी थीं लेकिन बार-बार ऐसी संभावना हो रही थी कि विकास को पुलिस की हर गतिविधि के बारे में पहले ही जानकारी मिल रही थी. कानपुर काण्ड के बाद चौबेपुर थाने के एसओ व एक अन्‍य पुलिसकर्मी की गिरफ्तारी व सारे थाने को सस्‍पेंड कर दिए जाने के बाद भी उत्तर प्रदेश पुलिस व एसटीएफ में विकास के चाहने वालों की कमी नहीं थी.

शायद इसी वजह से वह चप्‍पे-चप्‍पे पर निगरानी के बावजूद कानपुर से फरीदाबाद व फरीदाबाद से उज्‍जैन पहुंच गया. उज्‍जैन में उसकी गिरफ्तारी हुई लेकिन कुछ इस अंदाज में जैसे वह खुद ही चाहता था कि पुलिस उसे पकड़ ले व यह बात जितनी जल्‍दी हो सके जगजाहिर हो जाए. अपने गैंग के पांच सदस्‍यों के एन्‍काउंटर के बाद खुद के भी एन्‍काउंटर की संभावना से डरे विकास ने उत्तर प्रदेश पुलिस को खुलकर चुनौती दी. गिरफ्तारी के बाद भी उसकी अकड़ कम नहीं हुई. उसने चिल्‍लाकर बोला कि वह विकास दुबे है, कानपुर वाला. साफ है विकास के साथ उज्‍जैन में जो कुछ हुआ दरअसल वह यही चाहता था. यह उत्तर प्रदेश पुलिस की बहुत बड़ी नाकामी है. उत्तर प्रदेश व मध्‍य प्रदेश दोनों स्थान बीजेपी की सरकार होने के बावजूद मध्‍य प्रदेश के गृहमंत्री ने जब इस गिरफ्तारी का एलान करते हुए इसे मध्‍य प्रदेश पुलिस की कामयाबी बताया तो लोगों को यह उत्तर प्रदेश पुलिस की पूरी कार्यशैली पर सवालिया निशान लगने जैसा लगा.

गृहमंत्री ने बोला कि कानपुर में वारदात होने के बाद  से ही मध्‍य प्रदेश पुलिस को अलर्ट पर रखा गया था. पूरी निगाह रखी जा रही थी. अंतत: पुलिस ने विकास दुबे को अरैस्ट कर लिया. यह मध्‍य प्रदेश पुलिस की बड़ी कामयाबी है. विकास दुबे की गिरफ्तारी के ब्‍यौरे के बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने बोला कि इंटिलिजेंस की बातें वैसे वह नहीं बताएंगे. पहले सारी जानकारी लें लें फिर इस बारे में पूरी बात बताएंगे. उन्‍होंने बोला कि विकास की गिरफ्तारी मंदिर के बाहर से की गई. विकास दुबे ने  क्रूरता की हदें पार कर दीं थीं. उसका कृत्‍य बेहद निदंनीय व चिंतनीय था. वारदात के बाद ही सारे मध्‍य प्रदेश में पुलिस को सतर्क किया गया था. आज उसको उज्‍जैन से अरैस्ट करने में कामयाबी मिली.