सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहरों में बिजली गुल हो जाने के केस की जांच की प्रारम्भ, जाने कैसे

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहरों में बिजली गुल हो जाने के केस की जांच की प्रारम्भ, जाने कैसे

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में जन्माष्टमी के दिन राजधानी लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, मथुरा एवं मेरठ सहित कई शहरों में बिजली गुल हो जाने के केस की जांच सीएम योगी आदित्यनाथ ने एसटीएफ के सुपुर्द की है. उन्होंने आरोपी पाए गए लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

आपको बता दें कि बुधवार को अचानक कई शहरों की बिजली चली गई, किन्तु घरों में लगे स्मार्ट मीटर चालू थे. जिन इलाकों में बिजली बंद हुई, उनमें पीएम, सीएम एवं ऊर्जा मंत्री के इलाके आते हैं. इससे शहरों में तहलका मच गया. वही लखनऊ में कई उपकेंद्रों पर कंस्यूमर इकट्ठा हो गए, तथा हंगामा करने लगे. शक्ति भवन में अफरा-तफरी मच गई. आला अधिकारी शक्ति भवन में डटे रहे तथा तकनीकी खराबी दुरुस्त कर आपूर्ति बहाल कराने का प्रयास करते रहे.

वही तलाशी में पता चला कि शक्ति भवन में जहां से स्मार्ट मीटरों की ऑनलाइन नजर रखी जाती है, वहां के सर्वर से डिस्कनेक्ट कमांड दब जाने से यह परेशानी हुई. पावर कॉर्पोरेशन के अफसरों का दावा है कि तकनीकी वजहों से समस्या आई. अधिकतर उपभोक्ताओं की बिजली फिर से चालू करा दी गई है. हालांकि कई स्थानों पर अब भी दिक्कत बनी हुई है. इसी के साथ लोगों को कई परेशानियों का सामना कर पद रहा है. वही सीएम योगी ने अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए है, तथा पुरे मामले की जांच की जा रही है. तथा जो भी जिम्मेदार होगा उस के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा.