अमित शाह ने दिया बड़ा बयान, कहा-पुरानी ब्रू जनजाति की समस्या का हुआ समाधान

अमित शाह ने दिया बड़ा बयान,  कहा-पुरानी ब्रू जनजाति की समस्या का हुआ समाधान

गृह मंत्रालय ने बड़ा निर्णय लेते हुए बीते 22 सालों से ब्रू जनजाति (Bru tribes) रिफ्यूजी का मामला हल कर लिया है। लगभग 35 हजार ब्रू शरणार्थियों को त्रिपुरा में बसाया जाएगा। इसके साथ ही उन्हें सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता दी जाएगी। सभी Bru tribes के परिवार को प्लाट व खेती की ज़मीन दी जाएगी। साथ ही अगले दो सालों तक 5 हज़ार रुपये की सहायता भी जाएगी।

Bru tribes को त्रिपुरा की मतदाता सूची में शामिल किया जाएगा। मिजोरम में मिज़ो व Bru tribes के बीच प्रयत्न के चलते लगभग 35 हज़ार Bru tribes त्रिपुरा में शरणार्थी बन कर रह रहे थे। इस विषय में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बोला कि मैं सबको शुभकामना देता हूं कि जो समस्या पिछले 25 सालों से थी उसका हल हो गया। 1997 से जो मिज़ोरम के भीतर एथनिक टेंशन हुआ उससे करीब 30 हज़ार लोगों को अस्‍थाई शिविरों में रखा गया था। केवल 328 परिवार ही मिज़ोरम में बसे थे। किन्तु इसके बाद से करीब सभी 30 हज़ार लोगों को त्रिपुरा में बसाया जाएगा।

इसके लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने 600 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की है. दिल्ली में मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथांगा ने बोला है कि आज ब्रू नेताओं, त्रिपुरा सरकार व मिज़ोरम सरकार के साथ एक जरूरी समझौते पर दस्तखत किए हैं. यह 25 सालों से चल रहे ज्वलंत मामले को स्थायी रूप से हल करेगा.