अखिलेश यादव ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के साथ सियासी संक्रमण से भी जूझ रहा है यूपी

अखिलेश यादव ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के साथ सियासी संक्रमण से भी जूझ रहा है यूपी

लखनऊ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बोला है कि यूपी कोविड-19 संक्रमण के साथ सियासी संक्रमण से भी जूझ रहा है अपने लिखित बयान में उन्होंने बोला 'भाजपा सरकार के कुछ ही दिन बचे हैं ऐसे में अब सीएम जी का नियंत्रण भी ढीला पड़ता जा रहा है जिस तरह से दिल्ली-लखनऊ के बीच विवाद के इशारा हैं, उससे लगता है कि जो दिख रहा है वह अगले संकट का इशारा है सरकार असफल है और सीएम जी निष्क्रिय फिर भी दिल्ली की दौड़ किसलिए हो रही है, प्रदेश की जनता सच्चाई से परिचित है'

अखिलेश यादव ने बोला ' कोविड-19 संक्रमण की संख्या भले आंकड़ों में हेराफेरी से कम हो गई है, लेकिन अभी भी हॉस्पिटल ों और घरों में संक्रमित कम नहीं हैं स्वयं पीजीआई की सर्वे रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि 80 फीसदी मरीजों के साइनस पर फंगस हमला कर रहा है फंगस के समुचित उपचार की सुविधाएं अभी भी अपर्याप्त हैं कोविड-19 संक्रमितों में अब दूसरी रोंगों के लक्षण भी दिखाई पड़ने लगे हैं मरीज तड़प रहे हैं डॉक्टर अपने प्रशासनिक अधिकार छिने जाने से परेशान हैं, संविदा पर नियुक्त पैरामेडिकल स्टाफ शटल बने हुए है'

अखिलेश यादव ने इस बात पर जोर दिया ' जानकार बता रहे हैं कि तीसरी लहर भी आने वाली है बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर चिंताएं जताई जा रही हैं टीकाकरण की गति धीमी है वैक्सीन के वितरण को लेकर राज्यों-केंद्र के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर दौरा चल चुका है प्रदेश में हरेक को मुफ्त टीका लगाने का प्रचार तो जोरशोर से किया गया है लेकिन ऑनलाइन-ऑफलाइन के झमेले में गांव वाला परेशान है प्रदेश की आबादी को देखते हुए टीकाकरण की गति बड़ी धीमी है'

अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए बोला 'समाजवादी सरकार के समय प्रारंभ की गई स्वास्थ्य सुविधाएं बीजेपी राज में केवल द्वेषवश बर्बाद की गईं यद्यपि जब कोविड-19 की आफत आई तो वही व्यवस्थाएं कार्य आईं लखनऊ में कैंसर हॉस्पिटल , अवध शिल्प ग्राम के अतिरिक्त उस समय बने मेडिकल कॉलेज और एम्बुलेंस सेवा से ही बीजेपी सरकार को कार्य चलाना पड़ा'


महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...

महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...

देश में लगातार बढ़ती महंगाई को लेकर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बढ़ती महंगाई को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है और सरकार से मांग की है कि वह महंगाई कम करने पर ध्यान दे, उन्होंने बढ़ती महंगाई के लिए केंद्र के साथ ही राज्य सरकारों को जिम्मेदार माना। ठहराया

मायावती ने केंद्र की नरेंद्र मोदी के साथ ही भाजपा तथा अन्य दलों के शासित राज्य सरकारों पर निशाना साधा है। उन्होंने बढ़ी महंगाई के लिए केंद्र और राज्य सरकार को दोषी ठहराया और कहा कि जरूरी वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही और इसको लेकर हमारी केंद्र के साथ राज्य सरकारों ने ध्यान नहीं दिया।


मायावती ने पेट्रोल तथा डीजल की लगातार बढ़ती कीमतें को लेकर भी केंद्र सरकार को घेरा है। इसको लेकर मायावती ने ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि एक तरफ कोरोना प्रकोप से हर प्रकार की जबर्दस्त मार और दूसरी ओर पेट्रोल व डीजल आदि की लगातार बढ़ती हुई कीमत के कारण जरूरी वस्तुओं की महंगाई भी आसमान छू रही है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि देश के कई राज्यों में पेट्रोल व डीजल की कीमत लगभग 100 रुपए पहुंच जाने से लोगों में आक्रोश की खबर लगातार मीडिया की सुर्खियों में हैं। जिसनेे लोगों का जीवन दु:खी व त्रस्त कर दिया है, फिर भी केन्द्र व राज्य सरकारें इस ओर ध्यान नहीं दे रही हैं। यह तो बेहद ही दु:खद है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि महंगाई कम करने पर ध्यान दें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कोरोना वायरस से उबरने के लिए मददगार उपकरणों आदि पर जीएसटी कर को कम करने की भी वकालत की है। कोरोना इलाज सम्बंधी उपकरणों आदि पर जीएसटी कर को कम करके न्यायोचित बनाने की तरह ही सरकार महंगाई कम करने पर भी ध्यान दें।


Covid-19: बिहार में ब्लैक फंगस से अब तक 76 की मौत       16 जून से बिहार के लोगों को मिलेगी छूट या बढ़ेगी पाबंदी       बिहार में कोविड-19 से आठ मरीजों की मौत, इतने नए मुद्दे आए सामने       इन इलाकों में होगी भारी बारिश, समय से पहले पहुंचा मानसून       यूपी में आज से रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान       महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...       सीएम योगी का निर्देश, कोरोना संक्रमण को लेकर अभी भी रहें गंभीर       हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र       युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी       धरती पर हैं चार नहीं, पांच महासागर? अंटार्कटिका के पास है कुछ सबसे अनोखा       OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार       पौष्टिक आहार, पढ़ाई और प्यार, बच्चों के लिए अत्यंत अनिवार्य: शालिनी गुप्ता,  बाल श्रम उन्मूलन दिवस पर पारहो में फूड न्यूट्रिशन किट का किया वितरण        Muslim Lawmaker Ilhan Omar ने US और Israel की तुलना तालिबान से कर डाली       दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात की तैयारियां पूरीं       अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी       70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत       कैसे डोनाल्ड ट्रंप को दी गई दवा कोविड-19 के मरीजों में जगा रही है उम्मीद?       PM मोदी से मुलाकात कर बहुत खुश हुए सीएम योगी, ट्वीट कर कही ये बड़ी बात       राजनाथ सिंह ने किया 'खामोश महामारी' का जिक्र, बोले...       अखिलेश यादव ने कहा कि बंदरबांट में उलझी बीजेपी सरकार से जनता को कोई आशा नहीं