चीन में बारिश ने तोड़ा 50 वर्षों का रिकॉर्ड, जानिए 7 लाख लोग हुए प्रभावित

चीन में बारिश ने तोड़ा 50 वर्षों का रिकॉर्ड,  जानिए 7 लाख लोग हुए प्रभावित

एशियाई राष्ट्रों में इस वक्त मौसम की मार पड़ रही है. भारी बारिश के कारण कई इलाके बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं. चाइना के भी कई प्रांतों में औसत से बहुत ज्यादाअधिक बारिश (Heavy Rain ) के कारण समस्या खड़ी हो रही है.

Related image

खासकर देश के दक्षिणी व पूर्वी भागों में पिछले 50 सालों में सबसे भारी बारिश हो रही है, जिसके चलते कई इलाके डूब ( China flood ) गए है.

चीन की स्टेट मीडिया ने दी जानकारी

चीन की स्टेट मीडिया के मुताबिक, इस मूसलाधार बारिश के कारण कई घर क्षतिग्रस्त हुए, फसलें बेकार हुई हैं व करीब 80,000 लोगों को विस्थापित करना पड़ा है. इसके साथ ही मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि आने वाले समय मेें व अधिक बारिश होने की उम्मीद है. रिपोर्ट्स के मुताबिक वर्ष 2019 में पिछले वर्ष से करीब 51 फीसदी अधिक बारिश हुई है. यह 1961 से अब तक का सबसे अधिक आंकड़ा है.

जिआंगशी प्रांत में 22 लोगों की मौत

इससे पहले गुरुवार को अधिकारियों ने जानकारी दी कि जिआंगशी प्रांत में जून से आई बाढ़ में 22 लोगों की मृत्यु हो चुकी है. इसके साथ ही कुल मिलाकर 7 लाख से ज्यादा लोग इस आपदा में प्रभावित हुए हैं. अधिकारियों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोला कि बाढ़ से अब तक 594,000 लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है. यही नहीं, इस त्रासदी में करीब 4,69,300 हेक्टेयर की फसल भी प्रभावित हुई, जिससे 15.9 अरब युआन (2.3 अरब डॉलर) का स्पष्ट अर्थिक नुकसान हुआ है. साथ ही करीब 1600 मकान भी भारी बारिश में ढह गए हैं.

29 नदियों का पानी बाढ़ के स्तर पर पहुंचा

जिआंगशी में 6 जुलाई से भारी बारिश के कारण 29 नदियों में पानी का लेवल बाढ़ के चेतावनी स्तर को पार कर गया है. इसके बाद प्रांत में कई आपातकालीन प्रतिक्रियाओं को प्रारम्भकिया गया. अब तक बाढ़ रोकथाम व बचाव कार्यों के लिए 1.7 करोड़ युआन दिए गए हैं. प्रांतीय मौसम विभाग का पूवार्नुमान है कि शुक्रवार को क्षेत्र में फिर से बारिश होगी व अगले मंगलवार तक जारी रहेगी.

जिआंगशी के अतिरिक्त हुनान, जेजियांग, फूजियान व ग्वांग्शी प्रांत भी बाढ़ के कारण प्रभावित हुए हैं. हाल में ऐसा देखा जा रहा है कि चाइना में लगातार बेकार मौसम बना हुआ है. इस वर्ष कई प्रांतों में तापमान अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया.