केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुजरात के सीएम से बात की व प्रदेश में भारी बारिश को लेकर दिया यह जायजा

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुजरात के सीएम से बात की व प्रदेश में भारी बारिश को लेकर दिया यह जायजा

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने शुक्रवार को बोला कि उन्होंने गुजरात (Gujarat) के सीएम विजय रूपाणी (CM Vijay Rupani) से बात की व प्रदेश में भारी बारिश (Heavy Rain) व जलभराव से उत्पन्न स्थिति का जायजा लिया। 

उन्होंने बोला कि प्रदेश में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की 14 टीमों को अलर्ट पर रखा गया है व आवश्यकता पड़ने पर व टीम भेजी जाएंगी। शाह ने ट्वीट किया, 'गुजरात के कुछ जिलों में भारी वर्षा के कारण हुए जलभराव के संबंध में प्रदेश के सीएम विजय रूपाणी व मुख्य सचिव से बात कर केन्द्र से हर सम्भव सहायता सुनिश्चित की। '

उन्होंने कहा, 'प्रदेश में एनडीआरएफ की 14 टीमों को अलर्ट पर रखा गया है तथा जरुरत पढ़ने पर व टीम भी तुरंत भेजी जायेंगी। ' उल्लेखनीय है कि गुजरात के कई हिस्सों में शुक्रवार को भारी बारिश हुई। क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केन्द्र के अनुसार अगले कुछ दिनों तक बारिश जारी रहने का अनुमान है। गुजरात सरकार ने एक बयान में बोला कि पिछले दो दिनों में प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण 12 प्रदेश राजमार्गों सहित कम से कम 225 सड़कों को बंद कर दिया गया।

गुजरात में भारी बारिश के बीच एनडीआरएफ की 13 टीमें तैनात
गुजरात में भारी बारिश के चलते कई हिस्सों में जलजमाव के बाद शुक्रवार को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 13 टीमें तैनात की गई हैं। मौसम विभाग ने बारिश का यह सिलसिला अभी अगले कुछ दिन तक जारी रहने का अनुमान जताया है। गुजरात सरकार ने शुक्रवार को एक बयान में बताया कि प्रदेश के कई हिस्सों में पिछले दो दिनों में भारी बारिश के बाद 12 राज्यमार्ग समेत कम से कम 225 सड़कें बंद हैं। अलावा मुख्य सचिव (राजस्व) पंकज कुमार ने कहा, ‘‘ हमने प्रदेश के भीतर भारी बारिश को देखते हुए एनडीआरएफ की 13 टीमें तैनात की हैं। जिला प्रशासन किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। ’’
कुमार ने बताया कि मंगलवार रात में एनडीआरएफ व मोर्बी जिला प्रशासन ने जिले के अमरान गांव के निकट से छह ग्रामीणों को बचाया। ये मौसमी बारिश की वजह से पक्के नदीपथ पर फंस गए थे। प्रदेश की कई नदियां उफान पर हैं। प्रातः काल से हो रही बारिश की वजह से सूरत शहर व उसके इर्द-गिर्द के कई रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है। एक ऑफिसर ने बताया कि सूरत सिटी के पुणा गाम व पर्वत पाटिया जैसे निचले इलाकों में फंसे 100 लोगों को शुक्रवार को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रदेश में सूरत जिले के सात तालुका में प्रातः काल छह बजे से दोपहर दो बजे तक सबसे ज्यादा बारिश हुई। सूरत जिले के मंगरोल तहसील में प्रातः काल छह बजे से दोपहर दो बजे तक 188 मिमी बारिश हुई।

सौराष्ट्र के गिर सोमनाथ, जूनागढ़ व जामनगर जिले व दक्षिणी गुजरात के भरूच, नर्मदा व तापी तथा मध्य गुजरात के छोटा उदयपुर व वडोदरा समेत कई इलाकों में भारी बारिश हुई। प्रदेश मौसम विज्ञान केन्द्र के निदेशक जयंत सरकार ने कहा, ‘‘गुजरात में आज तक कुल बारिश का 70 प्रतिशत बरस गया। वहीं एक हफ्ते पहले यह 40 प्रतिशत था। निम्न दबाव की वजह से पिछले 24 घंटे में बहुत बारिश हुई। अगले पांच दिनों में भी बहुत बारिश होने की आसार है। प्रदेश के कई हिस्सों में शुक्रवार व शनिवार को भारी बारिश की आसार है। ' उन्होंने बोला कि मछुआरों को बेकार मौसम की वजह से समुद्र में नहीं जाने की हिदायत दी गई है।