दिल्ली के शाहीन बाग में (सीएए) के विरूद्ध प्रदर्शन पर पुलिस ने की यह बड़ी कार्रवाई

दिल्ली के शाहीन बाग में (सीएए) के विरूद्ध प्रदर्शन पर पुलिस ने की यह बड़ी कार्रवाई

दिल्ली के शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरूद्ध पिछले 100 दिनों से चल प्रदर्शन पर पुलिस ने कार्रवाई की है. पुलिस ने मंगलवार प्रातः काल प्रदर्शन स्थल को पूरी तरह से खाली करवा लिया है. 

इसके अतिरिक्त वहां प्रदर्शन के दौरान लगाए गए टेंट को भी हटा दिया गया है. हालांकि, लोगों ने बोला कि हमने रात को ही कर्फ्यू के संभावना से प्रदर्शन स्थल खाली कर दिया था. 

साउथ-ईस्ट दिल्ली के डीसीपी ने बताया कि शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन वाली स्थान से लोगों को हटा दिया गया है. आने-जाने के लिए रास्ते को खाली कराया जा रहा है. उन्होंने कहा, 'इस कार्रवाई के लिए बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स बुलाई गई थी. हमने प्रदर्शन कर रहे लोगों से अपील की थी कि कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन की वजह से यहां से हट जाएं. लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया. इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन्हें हटा दिया है.' पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया है.

बता दें कि शाहीन बाग में सीएए के विरूद्ध प्रदर्शन का मुद्दा उच्चतम न्यायालय में भी गया था. इसके बाद सुनवाई करते हुए न्यायालय ने दो वार्ताकारों को नियुक्त किया था. न्यायालय ने वार्ताकारों से बोला था कि वे प्रदर्शन स्थल पर जाकर प्रदर्शनकारियों से प्रदर्शन समाप्त करने के लिए तैयार करें लेकिन वार्ताकार इसमें पास नहीं हो सके थे.

इससे पहले शाहीन बाग में लोगों से 31 मार्च तक प्रदर्शन स्थल से दूरी रहने व घर बैठकर सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी मुहिम को जारी रखने की अपील की गई थी. लोगों को सलाह दी गई थी कि वह मंच, प्रदर्शनस्थल के आसपास एकत्रित न हों व कोरोना से बचाव के लिए हर संभव कदम उठाएं.

वहीं, रविवार को शाहीनबाग में किसी अज्ञात शख्स ने हमला कर दिया था. शख्स शाहीनबाग में पेट्रोल बम फेंककर फरार हो गया था. मुद्दे की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जाँच के बाद केस दर्ज कर लिया था.