ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना सांसद के बम लेटर पर तोड़ी चुप्पी, कहा- 'बीजेपी का हर कार्यकर्ता हमारे'

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना सांसद के बम लेटर पर तोड़ी चुप्पी, कहा- 'बीजेपी का हर कार्यकर्ता हमारे'

Jyotiraditya Scindia News: नागरिक विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना सांसद केपी यादव के बम लेटर पर चुप्पी तोड़ी है. ग्वालियर आए केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने कहा कि केपी यादव मेरे परिवार के सदस्य हैं. बीजेपी का हर कार्यकर्ता हमारे परिवार का ही है.

इन सभी को एक-दूसरे के साथ मिलकर काम करना चाहिए और एक-दूसरे के साथ जो मिलन की कमी है वह भी पूरी होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के नेतृत्व में जो जिम्मेदारी मिली है उसे हमें मिलकर पूरा करना चाहिए.


वेरिफिकेशन की वजह से अटकी पेंशन पाने का मौका

वेरिफिकेशन की वजह से अटकी पेंशन पाने का मौका

रक्षा मंत्रालय ने रक्षा पेंशन भोगियों से मासिक पेंशन की सुचारू प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए 25 मई तक अपनी वार्षिक पहचान पूरी करने का बुधवार को निवेदन किया.

मंत्रालय के अनुसार, मंगलवार तक प्राप्त आंकड़ों के सत्यापन से यह पता चलता है कि औनलाइन पेंशन वितरण प्रणाली ‘स्पर्श’ का चयन करने वाले 43,774 रक्षा पेंशनभोगियों ने अपनी वार्षिक पहचान न तो औनलाइन और न ही अपने संबंधित बैंकों के माध्यम से पूरी की है.वहीं, रक्षा मंत्रालय की ओर से बोला गया कि ‘‘2016 से पहले सेवानिवृत्त एवं पेंशन की पुरानी प्रणाली पर बने पुराने पेंशनभोगियों के मुद्दे में यह सूचित किया जाता है कि लगभग 1.2 लाख पेंशनभोगियों ने मौजूद किसी भी माध्यम से अपनी वार्षिक पहचान प्रक्रिया पूरी नहीं की है.’’इस महीने की आरंभ में 58,275 रक्षा पेंशनभोगियों को मासिक पेंशन के वितरण में देरी हुई, क्योंकि उनके बैंक 30 अप्रैल तक उनकी वार्षिक पहचान की पुष्टि नहीं कर सके. रक्षा मंत्रालय ने चार मई को इन 58,275 प्रभावित कर्मचारियों को एक बार की विशेष छूट देते हुए बोला था कि अप्रैल की पेंशन उसी दिन जमा की जाएगी. हालांकि, मंत्रालय ने तब इन 58,275 पेंशनभोगियों को 25 मई तक अपनी वार्षिक पहचान कराने को बोला था.बता दें, पिछले महीने अप्रैल में रक्षा मंत्रालय ने पेंशन न भुगतान करने को लेकर एक स्पष्टीकरण जारी किया था, जिसमें बोला गया था कि जांच प्रक्रिया में यह बात सामने आई है कि करीब 3 लाख 30 हजार पेंशन भोगियों ने अपना वेरिफिकेशन नहीं कराया था. 25 अप्रैल तक 2.65 लाख पेंशन भोगियों ने अपना वेरिफिकेशन करा लिया है, जबकि अभी भी करीब 58 हजार पेंशन भोगियों यह प्रक्रिया पूरी नहीं की है लेकिन उनकी भी पेंशन भुगतान के आदेश जारी कर दिए हैं.पेंशन प्रक्रिया में आ रही कठिनाई पर रक्षा मंत्रालय ने बोला था कि बैंकों को हर वर्ष नवंबर में सेवानिवृत्त कर्मियों की पहचान के लिए वेरिफिकेशन किया जाता है. हालांकि कोविड-19 के कारण पिछले साल इसे 30 नवंबर 2021 से बढ़ाकर 31 मार्च 2022 तक कर दिया गया था, जिसे अब 25 मई तक बढ़ा दिया गया है.