खांसी, सिरदर्द, जुकाम जैसी बीमारियां होने पर अपनाए यह घरेलु तरीका

खांसी, सिरदर्द, जुकाम जैसी बीमारियां होने पर अपनाए यह घरेलु तरीका

खांसी होने का कोई समय नहीं होता, न ही ये किसी खास बीमारी के साथ आने का इंतजार करती है। ज्यादातर सर्दी, खांसी, सिरदर्द, जुकाम जैसी कुछ बीमारियां होने पर आप उपचार के लिए हम डॉक्टर के पास जाने से बचने की प्रयास करते हैं। खांसी होने की असल वजह भी आपको मालूम नहीं हो पाती है। खांसी दूर करने के लिए मार्केट में मिलने वाली दवाईयां या कफ-सीरप्स आपको बेवक्त उनींदा बना देती हैं। इससे बचने के लिए आप कुछ अच्छा घरेलू तरीका भी आपना सकते हैं। बदलता मौसम, ठंडा-गर्म खा या पी लेना या फिर धूल या किसी अन्यी वस्तु की एलर्जी होने से खांसी हो सकती है। इनमें सूखी खांसी होने पर आपको ज्यादा तकलीफ होती है। खांसी की समस्या होने पर आप सुकून से कोई कार्य भी नहीं कर पाते। आइए आज हम आपको खांसी से बचने के कुछ घरेलू तरीकों के बारे में बताते हैं। ।

एक ग्राम सेंधा नमक व 125 ग्राम पानी को मिलाकर, इसके आधा होने तक उबालें। खांसी होने पर सुबह-शाम इस पानी को पीने से खांसी में बहुत आराम मिलता है

सेंधा नमक की एक डली को आग पर अच्छे से गरम करें, जब नमक की डली गर्म होकर लाल हो जाए तो तुरंत आधा कप पानी में डालकर निकाल लें। खांसी होने पर सोने से पहले इस पानी को पीने से खांसी बहुत ज्यादा हद तक अच्छा हो जाती है।

तुलसी के कुछ पत्ते, 5 काली मिर्च, 5 नग काला मनुक्का, 5 ग्राम गेहूं के आटे का छान, 6 ग्राम मुलहठी व 3 ग्राम बनफशा के फूल, ये सभी लेकर 200 ग्राम पानी में उबाल लीजिए। जब पानी उबलकर आधा हो जाए तो इसे ठंडा कर छान लें। रात को सोते समय इसे फिर गर्म करके, इसमें बताशे डालकर गरम-गरम पी लें। इस खुराक को 3-4 दिन तक लेने से खांसी से आराम मिलता है।

घर पर बने गौ माता के दूध का 15-20 ग्राम घी व काली मिर्च को एक कटोरी में लेकर हल्की आंच में गरम करके, कुछ समय रखकर उसे ठंडा करके लगभग 20 ग्राम पिसी हुई मिश्री मिला दें। अब इससे काली मिर्च निकालकर खा लीजिए। घर पर बनाई गई इस इस खुराक को दिन में दो बार, लगातार दो-तीन दिन तक लेने से पकी खांसी बंद हो जाएगी।