हड्डियों को बनाना है मजबूत, तो आज ही जाने ये घरेलू उपचार

हड्डियों को बनाना है मजबूत, तो आज ही जाने ये घरेलू उपचार

लेडीज़, अगर अक्सर चोट के बाद आपकी हड्डियां फ्रैक्चर हो जाती है, तो यह ठीक समय है जब आपको अपनी बोन हेल्‍थ के बारे में गंभीरता से विचार करना चाहिए. होने कि सम्भावना है आपने सोचा भी न हो कि इसका एक अंतर्निहित कारण होने कि सम्भावना है. होने कि सम्भावना है कि आपकी हड्डियां सहायता के लिए रो रही हों, इसलिए उनकी पुकार को अनसुना न करें.

हम सभी जानते हैं कि कैल्शियम हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है. एक बार जब महिलाएं 30 के दशक के मध्य में आ जाती हैं, तो वे अपनी बोन डेंसिटी खोने लगती हैं. असल में इसका क्या मतलब है? यह स्‍पष्‍ट इशारा है कि अब आपको अपनी हड्डी के स्वास्थ्य पर कार्य करना प्रारम्भ कर देना चाहिए. अगर हम कल ऑस्टियोपोरोसिस या आर्थराइटिस जैसी समस्याओं से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो हमें अभी से कुछ बातों पर ध्‍यान देना प्रारम्भ कर देना चाहिए.

इसलिए, यहां उन सभी खाद्य पदार्थों की एक सूची दी गई है, जिन्हें आपको अपने हड्डी के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए सीमित करना चाहिए:

1. नमक का सेवन सीमित करें

यदि आप फीका भोजन खाना पसंद नहीं करते, तो इसमें एक चुटकी नमक डाले. परन्तु यह सुनिश्चित करें कि आप बेहद नमक न डालें. नमक में सोडियम सामग्री की उच्च मात्रा होती है, जो आपकी हड्डी के घनत्व पर कहर बरपा सकती है. यह गुर्दे में कैल्शियम का अधिक उत्सर्जन करता है व यह एक अच्छा इशारा नहीं है.

नमक की अधिकता आपकी बोन हेल्‍थ को नुकसान पहुंचाती है. चित्र: शटरस्‍टॉक 

एशिया पैसिफिक जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रीशन द्वारा किए गए एक अध्ययन में देखा गया है कि जो लोग अधिक नमक का सेवन करते है, उनमें हड्डियों का घनत्व कम होता है.

यहां अब एक सवाल हमारे मन में आता है कि एक दिन में कितने नमक का सेवन असल में हमारे लिए ठीक रहेगा? अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, एक स्वस्थ आदमी को एक दिन में 3.75 ग्राम से कम नमक का सेवन करना चाहिए.

2. कैफीन से दूर रहें 

यदि प्रातः काल की चाय या कॉफी से आपको बेहद प्यार है तो, आपको इस पर पुनर्विचार करने की जरुरत है. बहुत से लोग नहीं जानते कि कैफीन आपकी हड्डियों से कैल्शियम को बाहर निकालता है. बीएमसी मस्कुलोस्केलेटल डिसऑर्डर में प्रकाशित एक अध्ययन में बोला गया है कि कैफीन स्त्रियों में हड्डियों के कम घनत्व का मुख्य कारण है.

यदि आपकी मम्मी कैफीन की दीवानी हैं, तो सुनिश्चित करे कि वे ये आर्टिक्ल जरूर पढ़ें, जिसमे बताया गया है कि पोस्टमेनोपाॅज़ल स्त्रियों को ओस्टियोपोरोसिस का अधिक खतरा होता है, यदि वे इस आदत को नहीं छोड़ती है.

3. गैस से भरे हुए ड्रिंक्स

वातित पेय (ऐराटेड ड्रिंक्स) से कभी दोस्ती न करें, यदि आप एक स्वस्थ ज़िंदगी शैली अपनाना चाहती हैं. वे आपके शरीर में केवल सोडा की मात्रा नहीं बढ़ाते, बल्कि आपकी हड्डियों को फ्रैक्चर करने में भी बहुत बड़ी किरदार निभाते है. क्या आप जानते है कि आपका पसंदीदा कोला फास्फोरिक एसिड में समृद्ध है, जो आपके शरीर में रक्त अम्ल को बढ़ाता है.

इसके कारण, रक्त आपकी हड्डियों से कैल्शियम को बाहर निकालना प्रारम्भ कर देता है. द अमेरिकन जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल न्यूट्रीशन ने इस अध्ययन को प्रकाशित किया था, कि अगर कोला पीना आपकी जीवनशैली का भाग है, तो आपको हड्डी से संबंधित विकारों के विकास का अधिक खतरा है.

4. खाद्य पदार्थ जो हड्डी की सूजन का कारण बनते हैं

आपको कम ही पता होगा कि टमाटर, मशरूम, बैगन व शकरकंद कुछ ऐसी सब्जियां है जो हड्डियों में सूजन पैदा करती है. यदि आप हर समय उनके सेवन नहीं करते है, तो चिंता की कोई बात नहीं है. इसके अलावा, डिब्बाबंद या प्रोसेस्‍ड खाद्य पदार्थो से दूर रहा करें, क्योंकि वे हड्डियों की सूजन के लिए जिम्मेदार होती हैं.

5. शराब का सेवन धैर्य से करें

अधिक शराब का सेवन करना वैसे भी अच्छा विचार नहीं है, लेकिन इस बात पर ध्यान दें कि यह आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य को कैसे नुकसान पहुंचाता है.

जरूरत से ज्‍यादा शराब पीना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक होता है. चित्र: शटरस्‍टॉक

बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि अल्कोहल से अस्थि-विकसित करने वाले सेल के काम को ऑस्टियोब्लास्ट कहते हैं, जिसके कारण कैल्शियम आपकी हड्डियों द्वारा अच्छा से अवशोषित नहीं हो पाता है. इसके अलावा, यदि आप फ्रैक्चर से पीड़ित हैं, तो यह इलाज प्रक्रिया में देरी करता है.

यद्यपि यह रातों रात नहीं होता, लेकिन आज यह जरूरी है कि हम अपनी बोन हेल्‍थ के लिए इन खाद्य पदार्थो का सेवन बंद कर दें. रोकथाम हमेशा उपचार से बेहतर है.