दिल्ली में महासंकट, कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी

दिल्ली में महासंकट, कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा होने की वजह से देश में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं (Health facilities) चरमराने लगी हैं। कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते अस्पतालों में बेड से लेकर ऑक्सीजन तक की किल्लत हो गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में भी हालात काफी बेकार हो गए हैं। यहां के कई अस्पतालों में कुछ घंटे या कुछ दिन का ही ऑक्सीजन (Oxygen) का स्टॉक बचा है।

इस बीच खबर है कि दिल्ली के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital) और माता चानन देवी अस्पताल (Mata Chanan Devi Hospital) में ऑक्सीजन की कमी (Oxygen Shortage) हो गई है। जिस वजह से कई मरीजों की जान खतरे में है। राजीव गांधी हॉस्पिटल में तो केवल दो घंटे का ही ऑक्सीजन बचा है।

RGSSH में केवल दो घंटे का ऑक्सीजन
बताया जा रहा है कि राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital) में महज दो घंटे का ही ऑक्सीजन स्टॉक (Oxygen Stock) बचा हुआ है। जिस वजह से कई मरीजों की जान खतरे में आ गई है। यहां पर करीब 900 मरीज भर्ती हैं। बता दें कि इस अस्पताल की रोजाना ऑक्सीजन जरूरत 5 से 6 टन है।

वहीं, बात की जाए दिल्ली के माता चानन देवी अस्पताल की तो यहां पर आज यानी गुरुवार सुबह ही ऑक्सीजन खत्म हो गया था। यहां पर करीब 200 ऐसे मरीज भर्ती हैं, जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत है। अस्पताल लगातार ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी के साथ संपर्क साध रहा है। इसके अलावा दिल्ली के रोहिणी में मौजूद सरोज अस्पताल में भी दो ही घंटे का स्टॉक है। यहां करीब 2700 क्यूबिक मीटर ऑक्सीजन की जरूरत होती है।

हाईकोर्ट ने केंद्र को फटकारा
इससे पहले मैक्स हॉस्पिटल (Max Hospital) की ऑक्सीजन की किल्लत की शिकायत पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को जमकर फटकारा। कोर्ट ने केंद्र को सभी अस्पतालों को ऑक्सीजन मुहैया कराने का निर्देश दिया है। हाई कोर्ट ने कहा कि गिड़गिड़ाइए, उधार लीजिए या फिर चुराइए लेकिन अस्पतालों में ऑक्सीजन लेकर आइए, हम मरीजों को मरता हुआ नहीं देख सकते हैं। साथ ही जरूरत पड़ने पर इंडस्ट्री की सप्लाई रोकने की भी बात कही है।


Canada से जल्द आएगी सहायता की दूसरी खेप, उच्चायुक्त Nadir Patel ने कहा...

Canada से जल्द आएगी सहायता की दूसरी खेप, उच्चायुक्त Nadir Patel ने कहा...

कोविड-19 ( Covid-19 ) के विरूद्ध जंग में कनाडा (Canada) भी हिंदुस्तान (India) की सहायता कर रहा है कनाडा ने महत्वपूर्ण साजोसामान की पहली खेप भेज दी है और आगे भी हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया है हिंदुस्तान में कनाडा के उच्चायुक्त नादिर पटेल (Nadir Patel) ने हमारे प्रधान राजनयिक संवाददाता सिद्धांत सिब्बल (Sidhant Sibal) से इस विषय में वार्ता की उन्होंने बोला कि कोविड-19 को केवल तभी हराया जा सकता है, जब सब मिलकर इससे लड़ें

जवाब: हमारी पहली खेप शनिवार दोपहर को पहुंची थी इसके अलावा, हम 350 वेंटिलेटर (Ventilators) और 25000 रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) भी भेज रहे हैं कनाडा ने 1450 ऑक्सीजन कॉन्सेन्ट्रेटर प्राप्त करने के लिए यूनिसेफ को सहयोग दिया है, साथ ही हमने भारतीय रेड क्रॉस को भी $10 मिलियन मौजूद कराएं हैं, इससे हिंदुस्तान को अलावा साजोसामान प्राप्त करने में सहायता मिलेगी इतना ही नहीं, कनाडा के ओंटारियो और सस्केचेवान प्रांत की कुछ निजी कंपनियां हिंदुस्तान में सक्रिय हैं, वे भी इस जंग में अपना सहयोग दे रही हैं

जवाब: कनाडा से पहला शिपमेंट शनिवार को हिंदुस्तान पहुंच गया था अगले कुछ दिनों में दूसरा शिपमेंट भी आने वाला है मुझे हर रोज कनाडाई कंपनियों, संगठनों और लोगों के फोन आ रहे हैं, जो सहायता करने की ख़्वाहिश रखते हैं इसलिए आप निश्चित तौर पर आने वाले दिनों में और सहायता की अपेक्षा रख सकते हैं

जवाब: हम पिछले वर्ष महामारी की आरंभ से एक-दूसरे के सम्पर्क में हैं हमारे विदेश मंत्रियों ने पिछले एक वर्ष में कई बार बात की है, हाल ही में भी दोनों की वार्ता हुई थी हमारे प्रधानमंत्रियों ने भी कनाडा और हिंदुस्तान के साथ-साथ पूरी दुनिया में कोविड-19 से निपटने के लिए योगदान के उपायों पर विचार-विमर्श किया है दोनों राष्ट्रों ने यह महसूस किया है कि किसी एक देश में कोविड-19 को मात देना बहुत ज्यादा नहीं है इस महामारी को पूरी तरह से केवल तभी हराया जा सकता है, जब सभी राष्ट्रों में उसे मात मिले इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम एक साथ मिलकर कार्य करें  
फार्मा, वैक्सीन जैसे क्षेत्रों में हिंदुस्तान की तरफ से मिली सहायता के लिए कनाडा उसका आभारी है हम वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए इन पहल पर कार्य करना जारी रखे हुए हैं जहां तक कनाडा में टीकाकरण अभियान की बात है तो वो बहुत अच्छा चल रहा है हमारा अभियान विज्ञान और विज्ञान-आधारित दृष्टिकोण पर आधारित है हमारे वैक्सीन प्रोटोकॉल में कोई भी परिवर्तन विज्ञान पर आधारित होता है, जिसे राष्ट्रीय सलाहकार समिति द्वारा अमल में लाया जाता है  

जवाब: हमने भी इस विषय में बात की है हमारे व्यापार मंत्री ने कुछ दिन पहले एक बयान भी दिया था हमने पहले भी बोला है कि हम COVID-19 से मुकाबले के लिए सबके साथ खड़े हैं जहां तक पेटेंट में छूट का प्रश्न है तो यदि विश्व स्वास्थ्य संगठन ( विश्व स्वास्थ्य संगठन ) की तरफ से इस पर कोई प्रस्ताव आता है, तो हम उसका स्वागत करेंगे निश्चित रूप से, कनाडा सहित सभी राष्ट्रों को इस पहल पर विचार करना चाहिए


हाथी ने खेला क्रिकेट, बैटिंग देखकर इंप्रेस हुए सहवाग       Lewis Hamilton ने जीती Spanish Grand Prix, क्रिकेटर सूर्यकुमार यादव बोले...       Rahul Tewatia ने सरेआम किसे I Love You बोलकर किया किस?       Ind vs Eng: हिंदुस्तान और इंग्लैंड में कौन है टेस्ट सीरीज जीतने का दावेदार?       टोक्यो में पदक का सूखा समाप्त करने का मौका : मनप्रीत       Virat Kohli ने कही केवल एक बात और स्टार बन गए Harshal Patel       Virat Kohli के बाद Ishant Sharma ने भी लगवाया पहला टीका       Chetan Sakariya के पिता के मृत्यु की समाचार सुनकर दुखी हुए Mustafizur Rahman       Babar Azam और Alyssa Healy ने मारी बाजी, जीता ये बड़ा खिताब       कोविड-19 के चलते खेल जगत से बुरी खबर, इस खिलाड़ी ने अपनी मां को खोया       यूपी में पिछले 24 घंटे में सामने आए कोविड-19 के 23333 नए मामले       सीएम योगी ने संबंधित विभागों को कार्यों में और तेजी लाने के दिए निर्देश       देश के इन राज्यों में आज से लॉकडाउन, जानिए क्या-क्या रहेगा बंद       खुशखबरी: उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के कम हुए 3514 केस       11 और जिलों में 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए प्रारम्भ हुआ कोविड टीकाकारण, जानें       यूपी के इन 12 जिलों में कोविड-19 वायरस के आधे मरीज       यूपी के शराब कारोबारियों ने कहा कि हम हो जाएंगे बर्बाद       मायावती ने कहा कि गांव में कोविड-19 लोग दहशत में, रोकथाम के लिए युद्ध स्तर पर काम करें सरकार       योगी सरकार 60 लाख गरीब बुजुर्गों के खातों में भेजेगी पेंशन, 1800 करोड़ रुपये की किश्त जारी       कोविड-19 वायरस टीकाकरण में तेजी, 11 और जिलों में वैक्सीनेशन शुरू