यूपीएससी की इम्तिहान में ट्रेनी आईपीएस, अजय जैन ने हासिल की यह बड़ी सफलता

यूपीएससी की इम्तिहान में ट्रेनी आईपीएस, अजय जैन ने हासिल की यह बड़ी सफलता

यूपीएससी की इम्तिहान में ट्रेनी आईपीएस, अजय जैन ने सफलता हासिल की है. अजय जैन वर्तमान में पुलिस एकेडमी प्रशिक्षण हासिल कर रहे हैं. इससे पूर्व ही वे सिविल सेवा की इम्तिहान दे चुके थे. इंटरव्यू शेष था. 

इंटरव्यू के लिए बुलावा आने पर उन्होंने विभाग से अनुमति ली. इसके बाद इंटरव्यू दिया. इम्तिहान में देश में 12 वीं रैंक हासिल की. अब आईएएस में चयनित हो गए. 

2017-18 में भी हासिल की सफलता 
मूलरूप से राजस्थान के माधोपुर जिले के शिवाड़ गांव के रहने वाले अजय जैन ने साल 2017-18 में भी सिविल सेवा की इम्तिहान में सफलता हासिल की थी. साल 2017 में 399 वीं रैंक हासिल करके वह आईआरटीएस (इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस) बने. साल 2018 में 141 वीं रैंक हासिल कर आईपीएस बने. आईपीएस बनने के बाद उन्हें उत्तर प्रदेश कैडर मिला. अजय जैन के पिता विनोद कुमार जैन व्यवसायी हैं. मां, संजू जैन गृहिणी हैं. चार भाई-बहनों में अजय सबसे बड़े हैं. दो बहने हैं. दूसरा भाई सबसे छोटा है.

स्वाध्याय का दूसरा कोई विकल्प नहीं 
हिन्दुस्तान से वार्ता में अजय जैन ने बोला कि सिविल सेवा या दूसरी किसी भी प्रतियोगी के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण स्वाध्याय सेल्फ स्टडी है. जब तक सेल्फ स्टडी नहीं होगी, तो कोचिंग का भी फायदा नहीं होगा. सेल्फ स्टडी को ही उन्होंने अपनी सफलता का मूल आधार बताया. ग्रामीण परिवेश से आने के बावजूद निरंतर प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता के ग्राफ पर उन्होंने बोला कि प्रतिभा, संसाधन की मोहताज नहीं होती. अपने लक्ष्य पर फोकस रहकर कोई भी युवा अपनी मंजिल को पा सकता है. इसके लिए लक्ष्य पर केंद्रित रहने की जरूरत है. सफलता का श्रेय परिवार को दिया.