तेजस्वी यादव ने विधानसभा चुनाव में किया महागठबंधन की जीत का दावा, जाने कारण

 तेजस्वी यादव ने विधानसभा चुनाव में किया महागठबंधन की जीत का दावा, जाने कारण

महागठबंधन के घटक दलों के किचकिच से अलग राजद अब बिहार में एक नए दल से दोस्ती करेगा. इसके लिए झारखंड में सक्रिय झामुमो से वार्ता चल रही है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को लोजपा प्रमुख चिराग पासवान के अगले कदम का भी इंतजार है.

तेजस्वी ने हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी को दरकिनार करके साफ कर दिया है कि वह किसी के दबाव में आने वाले नहीं हैं. राजद के तीनों प्रत्याशियों के निर्विरोध चुने जाने पर तेजस्वी ने उन्हें शुभकामनाएं दी व विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की जीत का दावा किया. उन्होंने बोला कि हमसे गलती हुई तो जनता ने हमें सत्ता से बाहर रखा. किंतु अब सत्ता में बैठे लोगों के बाहर होने की बारी है.

झामुमो से गठबंधन के सवाल पर तेजस्वी ने बोला कि झारखंड में हम साथ-साथ हैं. बिहार में भी उन्हें जोड़ा जाएगा. उधर, झामुमो ने बिहार की 12 सीटों पर राजद के साथ चुनाव लडऩे की घोषणा भी कर दी है.

झामुमो का दावा-राजद के साथ मिलकर बिहार में 12 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव

झारखंड में सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बिहार विधानसभा चुनाव में राजद के साथ मिलकर 12 सीटों पर चुनाव लड़ने का दावा किया है. झामुमो के महासचिव एवं प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने सोमवार को रांची में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में घोषणा की कि झारखंड मुक्ति मोर्चा आगामी बिहार विधानसभा चुनावों में 12 सीटों पर अपने उम्मीवार उतारेगी व यह चुनाव उनकी पार्टी राजद गठबंधन के साथ मिलकर लड़ेगी.

उन्होंने संभावित सीटों का ब्योरा भी दिया है, जिनमें तारापुर, कटोरिया, मनिहारी, झाझा, बांका, ठाकुरगंज, रूपौली, रामपुर, बनमनखी, जमालपुर, पीरपैंती व चकाई शामिल हैं.

तेजस्वी ने कहा-चिराग ठीक मामले उठा रहे हैं

नेता प्रतिपक्ष ने महागठबंधन में लोजपा के लाने के सवाल पर बोला कि वार्ता होगी तब विचार किया जा सकता है. वैसे कोई टिप्पणी करना मुनासिब नहीं है. किंतु चिराग पासवान जिन मुद्दों को उठा रहे हैं, वह ठीक है व उनके बारे में राजग को मुंह तो खोलना ही पड़ेगा. उन्होंने बोला कि राजग में चाहे जो भी खिचड़ी पक रही है, लेकिन बिहार की जनता को भुगतना पड़ रहा है.