चुनावी कार्यों के लिए रोहतास में सवारी वाहनों की धर-पकड़ शुरू

चुनावी कार्यों के लिए रोहतास में सवारी वाहनों की धर-पकड़ शुरू

प्रखंड में प्रथम चरण में होने वाले पंचायत चुनाव को ले पुलिस प्रशासन ने वाहनों की जब्ती शुरू कर दी है। मतदान कर्मियों को बूथ तक जाने आने, ईवीएम, बैलेट पेपर, मतपेटी बूथ तक ले जाने के लिए करीब 180 वाहनों की जरूरत है। वाहन कोषांग पदाधिकारी रंजीत सिन्हा ने बताया कि चुनाव के लिए कुल 180 वाहनों को जब्त करने का आदेश प्राप्त हुआ है। समय सीमा के अंदर जरूरत भर वाहनों को जब्त कर मध्य विद्यालय के खेल मैदान में लगा दिया जाएगा। बताते चलें कि प्रखंड में प्रथम चरण में होने वाले पंचायत चुनाव को ले 24 सितंबर को मतदान होना है। जिसकी प्रशासनिक तैयारी तेज कर दी गई है।

दावथ में थमा चुनाव प्रचार अभियान

संवाद सूत्र, दावथ। प्रखंड क्षेत्र में प्रथम चरण में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को ले प्रचार अभियान बुधवार की शाम थम गया। अब किसी प्रत्याशी द्वारा अपने पक्ष में प्रचार नहीं किया जाएगा। बीडीओ सह निर्वाचन पदाधिकारी शिवेश कुमार ने बताया कि प्रथम चरण का त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का प्रचारआज शाम तक थम जाएगा। इसके बाद यदि कोई भी प्रत्याशी अपने पक्ष में प्रचार करते पाए जाते हैं, तो उनपर आचार संहिता उल्लंघन के तहत प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। चुनाव की सभी तैयारी पूरी कर ली गई है।


पंचायत चुनाव को ले डीएम ने किया ईवीएम सीलिंग कार्य का निरीक्षण

संवाद सूत्र, रोहतास। डीएम धर्मेंद्र कुमार ने बुधवार को स्थानीय प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय में पंचायत चुनाव को लेकर चल रहे ईवीएम सीलिंग कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने ईवीएम मशीनों की हो रही सील तथा उसकी कार्यप्रणाली की जांच व समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कार्यरत कर्मियों को कई दिशा निर्देश भी दिया। डीएम ने कहा कि बूथ पर ईवीएम में गड़बड़ी हुई तो आपलोग करवाई के लिए भी तैयार रहेंगे।

डीएम ने खुद मशीनों के करीब जाकर उसकी स्थिति व कार्य का मुआयना किया। 29 तारीख को होने वाले पंचायत चुनाव के दौरान बूथ पर जाने वाली मशीनों की समुचित प्रणाली व पहाड़ पर होने वाले बूथों की तैयारियों के बारे में स्थानीय अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया। मौके पर एसडीएम डेहरी समीर सौरभ, डीसीएलआर श्वेता मिश्र, सीओ आशु रंजन, बीडीओ मनोज कुमार समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


पटना: झड़प के बाद धनरुआ में दशा तनावपूर्ण, एसपी बोले- गोलियां कहां से और कितनी चलीं, हो रही जांच

पटना: झड़प के बाद धनरुआ में दशा तनावपूर्ण, एसपी बोले- गोलियां कहां से और कितनी चलीं, हो रही जांच

पटना  पटना के धनरुआ में पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प के बाद दशा तनावपूर्ण बना हुआ है इसको देखते हुए ग्रामीण एसपी ने पटना से अलावा पुलिस बल बुलाया है पटना से दो बसों में 50 से अधिक पुलिस के जवान धनरुआ पहुंचकर मोर्चा थाम लिया गांव के चारों तरफ पुलिस के जवानों को तैनात कर दिया गया है

ग्रामीण एसपी ने बताया कि इस झड़प में 16 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं  सभी पुलिसवालों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है एसपी ने बोला कि पुलिस गांव में जायजा लेने गई थी  पुलिस वहां कई बार रेड कर चुकी है चुनाव प्रचार के लिए भी लोग वहां जुटे हुए थे पुलिस और लोगो के बीच मिस अंडरस्टैंडिंग के कारण ये घटना घटी  लोगों को कुछ और बताया गया, इसलिए वे उग्र हो गये

एसपी ने बताया कि झड़प में घायल ग्रामीणों को उपचार के लिए PMCH भेजा गया है  सूचना मिली है एक आदमी की मृत्यु हुई है गोलियां कहां से और कितनी चली, इसकी जाँच हो रही है

झड़प में धनरुआ थानाप्रभारी का सिर फट गया है एक इंस्पेक्टर का पैर टूट गया है पुलिस और गांववालों के बीच गोलीबारी हुई है  दरअसल धनरूआ थानाक्षेत्र के मड़ियावा गांव में चुनाव प्रचार समाप्त होने के बाद भी प्रचार किया जा रहा था इसी सूचना पर पुलिस प्रचार रोकने के लिए गई थी इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस की टीम को घेर कर हमला कर दिया लोगों से स्वयं को बचाने के लिए पुलिस ने फायरिंग की इस झड़प में पुलिस के कई जवान जख्मी हो गये 3 ग्रामीणों को गोली लगी है