बेटी की विवाह के लिए गरीब परिवारों को 50,000 रु दे रही मोदी सरकार? जानें सच

बेटी की विवाह के लिए गरीब परिवारों को 50,000 रु दे रही मोदी सरकार? जानें सच

नई दिल्ली।  प्रधानमंत्री की योजनाओं के नाम से देश में कई फर्जीवाड़े भी सामने आ रहे हैं। जिनके नाम पर मासूम लोगों के साथ ठगी की जा रही है। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट तेजी से वायरल हो रही है। एक वेबसाइट पर दावा किया जा रहा है कि केन्द्र सरकार 'प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना' के तहत तहत गरीबी रेखा से नीचे (BPL) वाले परिवारों को अपनी बेटियों की विवाह के लिए 50,000 रुपए की आर्थिक सहायता दे रही है।

जानिए आखिर क्या है सच-वायरल हो रही समाचार पूरी तरह फेक है। केन्द्र सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है। हिंदुस्तान सरकार की प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) ने वायरल समाचार को खारिज करते हुए स्पष्ट किया है कि इस तरह की कोई योजना प्रारम्भ नहीं की गई है।

दावा:- एक वेबसाइट पर दावा किया जा रहा है कि केन्द्र सरकार 'प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना' के तहत बीपीएल श्रेणी के परिवारों की बेटियों के शादी के लिए ₹50,000 की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी.#PIBFactCheck:- यह दावा फ़र्ज़ी है. केन्द्र सरकार द्वारा ऐसी योजना नहीं चलाई जा रही है. pic.twitter.com/FTqD31uJyW

— PIB Fact Check (@PIBFactCheck) September 29, 2020



पीआईबी फैक्ट चेक के ट्विटर हैंडल से लिखा गया है- ‘दावा: एक वेबसाइट पर दावा किया जा रहा है कि केन्द्र सरकार ‘प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना’ के तहत बीपीएल श्रेणी के परिवारों की बेटियों के शादी के लिए 50,000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। PIBFactCheck: यह दावा फर्जी है। केन्द्र सरकार द्वारा ऐसी योजना नहीं चलाई जा रही है। ’

वेबसाइट में लिखा है कि बालिका अनुदान योजना की आरंभ हमारे देश के पीएम नरेंद्र मोदी के द्वारा देश में गरीबी रेखा से नीचे आने वाले BPL श्रेणी के परिवारों की बेटियों को फायदा पहुंचाने के लिए की गयी है। इस योजना के भीतर देश के BPL श्रेणी के परिवारों की अधिकतम दो बेटियों के शादी के लिए 50000 रु की आर्थिक सहायता केन्द्र सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी तथा सामान्य श्रेणी के BPL परिवारों की विधवा महिलाओ की दो बेटियों के लिए एकमुश्त 50000 रु की आर्थिक सहायता सरकार की तरफ से प्रदान की जाएगी।