दूध का सेवन करने से आपके स्वास्थ्य को होने वाले इन फायदों के बारे में

 दूध का सेवन करने से आपके स्वास्थ्य को होने वाले इन फायदों के बारे में

दूध हम हिंदुस्तानियों के ज़िंदगी का एक बेहद अहम भाग है। किसी को सादा दूध पीना अच्छा लगता है तो कोई चाय में दूध डालकर पीता है, कोई दूध में हल्दी डालकर, कोई मिल्कशेक बनाकर तो कोई ब्रेकफस्ट में सीरियल के साथ दूध का सेवन करना पसंद करता है।

 संयुक्त देश के फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन की तरफ से हर वर्ष 1 जून को वर्ल्ड मिल्क डे मनाया जाता है ताकि दूध पीने की सम्मान व दूध के फायदों के बारे में लोगों को जागरूक किया जा सके।

पारंपरिक रूप से ज्यादातर लोग दूध का सेवन सिर्फ इसलिए करते आ रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि दूध पीने से हड्डियां मजबूत होती हैं। लेकिन सच ये है कि दूध में कैल्शियम के अतिरिक्त भी कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के लिए कई तरह से लाभकारी हैं। न्यूट्रिशन नाम की पत्रिका में वर्ष 2014 में प्रकाशित एक स्टडी की मानें तो दूध पीने को लेकर कितने ही टकराव क्यों न हो, महामारी विज्ञान से जुड़े अध्ययनों में यह बात साबित हो चुकी है कि दूध, हमारी स्वास्थ्य को बनाए रखने में अहम भूमिका निभाता है। इसके अतिरिक्त दूध पीने से दिल रोग, कई तरह का कैंसर, फैट की चर्बी व डायबिटीज जैसी बीमारियों को भी रोकने में मदद मिलती है।

बाजार में इस वक्त कई तरह के दूध उपस्थित हैं व उन सबके अपने-अपने फायदे हैं। वर्ल्ड मिल्क डे के मौके पर हम आपको 8 तरह के दूध व उनका सेवन करने से शरीर को होने वाले फायदों के बारे में बता रहे हैं : 1. गौ माता का दूध

आंत द्वारा लैक्टोज को अब्जॉर्ब न कर पाने व कई तरह की एलर्जी की वजह से ऐसा माना जाता है कि गौ माता का दूध छोटे बच्चों के लिए ठीक नहीं होता। लेकिन जर्नल ऑफ पीडियाट्रिक गैस्ट्रोएन्ट्रोलॉजी एंड न्यूट्रिशन नाम की पत्रिका में वर्ष 2017 में प्रकाशित स्टडी की मानें तो गौ माता के दूध में नॉन-डेयरी मिल्क की तुलना में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है व साथ ही इसमें प्राकृतिक रूप से कैल्शियम, विटामिन डी, विटामिन ई, विटामिन बी12 व कई मिनरल्स जैसे- फॉस्फॉरस व मैग्नीशियम भी पाया जाता है। इसके अतिरिक्त गौ माता के दूध में कई लाभकारी एंटीऑक्सिडेंट्स भी पाए जाते हैं।

2. भैंस का दूध
लिपिड्स इन हेल्थ एंड डिजीज में वर्ष 2017 में प्रकाशित स्टडी में खुलासा हुआ है कि भैंस का दूध जो दुनियाभर में दूध के कुल उत्पादन का करीब 12 फीसदी भाग है वह सच में गौ माता के दूध से भी ज्यादा हेल्दी होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि भैंस के दूध में कोलेस्ट्रॉल की सघनता कम होती है। साथ ही भैंस के दूध में अमीनो ऐसिड, सिलेनियम, जिंक व एंटीऑक्सिडेंट्स की सघनता अधिक पायी जाती है।

3. बकरी का दूध
बहुत सी जगहों पर बकरी के दूध को गौ माता के दूध का बेहतरीन विकल्प माना जाता है, खासकर नवजात शिशु के फॉर्मूला मिल्क में। एशियन-ऑस्ट्रेलेशियन जर्नल ऑफ ऐनिमल साइंसेज में वर्ष 2019 में प्रकाशित स्टडी के मुताबिक बकरी का दूध ज्यादा सुपाच्य होता है, अधिक क्षारीय (ऐल्कलाइन) होता है, इसमें फैट की मात्रा कम होती है व गौ माता के दूध की तुलना में इसकी सहनशीलता भी अधिक होती है। मनुष्य को पोषण देने के लिहाज से बकरी के दूध में चिकित्सीय गुण भी अधिक पाए जाते हैं।

4. ऊंट का दूध
क्या आप जानते हैं कि ऊंट का दूध बाकी के भिन्न-भिन्न तरह के दूध से भले ही डिफरेंट हो लेकिन पोषण के लिहाज से ऊंट का दूध मां के ब्रेस्ट मिल्क के बेहद समीप माना जाता है? इलेक्ट्रॉनिक फिजिशियन में वर्ष 2015 में प्रकाशित एक स्टडी में यह समझाया गया है कि ऊंट के दूध में ग्लूकोज व कोलेस्ट्रॉल कम होता है लेकिन इसमें विटामिन सी व मिनरल्स जैसे- आयरन, पोटैशियम, कॉपर, जिंक व मैग्नीशियम की मात्रा अधिक होती है।

पिछले कुछ वर्षों में नॉन डेयरी दूध की वरायटीज भी दुनियाभर में बहुत ज्यादा फेमस हो रही हैं व इसकी वजह है पोषण संबंधी फायदे व खासकर इसलिए क्योंकि ये दूध का प्लांट-बेस्ड सोर्स हैं। ऐसे में सबसे फेमस नॉन-डेयरी मिल्क के 4 प्रकार हैं :

1. सोया मिल्क
सोयाबीन्स या सोय प्रोटीन से तैयार होने वाले सोया मिल्क को उसकी पोषण संबंधी खूबियों की वजह से गौ माता के दूध का सबसे बेस्ट सब्स्टिट्यूट माना जाता है। इसमें प्रोटीन, फैट व कार्बोहाइड्रेट का उतना ही लेवल पाया जाता है जितना गौ माता के दूध में। साथ ही सभी महत्वपूर्ण अमीनो ऐसिड की मौजूदगी की वजह से इसे कंप्लीट प्रोटीन के तौर पर भी माना जाता है।

2. नारियल का दूध
नारियल के दूध या कोकोनट मिल्क को पानी व नारियल के अंदर मिलने वाली सफेद रंग की ताजी मलाई को मिलाकर तैयार किया जाता है। सभी नॉन-डेयरी दूध की वरायटीज में से नारियल के दूध में पोषण की मात्रा सबसे कम होती है लेकिन भारतीय उपमहाद्वीप में इस दूध का बहुत ज्यादा प्रयोग होता है। यह दूध शरीर के ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल को बेहतर बनाने व वजन घटाने में भी मददगार माना जाता है।

3. बादाम का दूध
वैसे लोग जो अपनी स्वास्थ्य के प्रति बेहद जागरूक होते हैं वे बादाम के दूध या आमंड मिल्क पीना ज्यादा पसंद करते हैं। इसमें प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स व एंटीऑक्सिडेंट्स प्रॉपर्टीज की मात्रा अधिक होती है तो वहीं कैलोरीज की मात्रा बेहद कम।

4. ओट मिल्क
ओट्स, पानी व कई दूसरी सामग्रियों को मिलाकर तैयार किया जाता है इसमें गौ माता के दूध की तुलना में प्रोटीन व फैट की मात्रा कम होती है। बावजूद इसके ओट मिल्क को हेल्दी विकल्प के तौर पर देखा जाता है क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल व ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी आर्टिक्ल myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला व बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता व पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.