SBI ने ग्राहकों को किया सावधान, कहा गांठ बांध लीजिए ये टिप्स 

SBI ने ग्राहकों को किया सावधान, कहा गांठ बांध लीजिए ये टिप्स 

इंटरनेट बैंकिंग और डिजिटल ई कॉमर्स के जमाने में आपके लिए सावधान रहना बहुत महत्वपूर्ण है. कोविड-19 वायरस के बाद से डिजिटल फ्रॉड के मामलों में जबर्दस्त बढ़ोत्तरी देखने को मिली है. इस बीच राष्ट्र के सबसे बड़े ऋणदाता, स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया (एसबीआई) ने ग्राहकों को तुरन्त लोन ऐप से बचने के लिए आगाह किया है. बैंक ने ग्राहकों को इस बड़े वित्तीय खतरे से बचने के लिए कुछ महत्वपूर्ण तरीका भी सुझाए हैं.

क्या है बैंक की सलाह 

बैंक ने ट्वीट किया, “कृपया बैंक या वित्तीय कंपनी के रूप में प्रस्तुत करने वाली कंपनी को संदिग्ध लिंक पर क्लिक करने या अपनी जानकारी देने से बचें. साइबर क्राइम की वेबसाइट साइबरक्राइम डॉट जीओवी डॉट इन पर रिपोर्ट करें.” इंस्टेंट लोन ऐप, विशेष रूप से चीन से उत्पन्न होने वाले ऐप गवर्नमेंट के साथ-साथ आरबीआई (आरबीआई) के लिए भी एक खतरा हैं, उनके विरूद्ध कई शिकायतें मिली हैं.

रिजर्व बैंक भी कर चुका है सावधान! 

बीते कुछ दिनों में साइबर क्राइम के मामलों में वृद्धि हुई है और निर्बल कर्जदारों से जबरन वसूली भी हुई है. इसके लिए रिजर्व बैंक भी ग्राहकों से सावधान रहने के लिए कह चुका है. इसके साथ ही वित्त मंत्रालय भी इन फर्जी एप्स पर कार्रवाई करने के साथ ग्राहकों को सावधान रहने की राय दे रहा है. 

गांठ बांध लीजिए ये टिप्स 

कुछ सुरक्षा टिप्स को साझा करते हुए, एसबीआई ने सुझाव दिया कि डाउनलोड करने से पहले किसी ऐप की प्रामाणिकता की जांच करना हमेशा बेहतर होता है. बहुत सारे गैर कानूनी ऐप हैं जो उपयोगकर्ताओं को फंसा सकते हैं और उनके खातों से पैसे निकाल सकते हैं. एसबीआई ने बोला कि ग्राहकों को संदिग्ध लिंक पर क्लिक नहीं करना चाहिए और अनधिकृत ऐप के झांसे में आने से बचने के लिए अपने विवेक का उपयोग करना चाहिए.

हमेशा ध्यान रखें 

बैंक ने आगे चेतावनी दी कि अपने डेटा को चोरी होने से बचाने के लिए ऐप अनुमति सेटिंग्स की जाँच करें और चोरी के मुद्दे में, ऐसे मामलों की सूचना क्षेत्रीय पुलिस ऑफिसरों को दी जानी चाहिए.