Coronavirus : क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने अपने स्टाफ में से इन लोगो को निकाला जॉब से बाहर

Coronavirus : क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने अपने स्टाफ में से इन लोगो को निकाला जॉब से बाहर

दुनियाभर में फैली जानलेवा महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते आर्थिक संकट का दौर प्रारम्भ हो गया है। कोई भी क्षेत्र इस संकट से अछूता नहीं है। यहां तक कि खेलों की संसार पर भी इसका गहरा प्रभाव पड़ा है।

 कई राष्ट्रों के क्रिकेट बोर्डों ने साफ कर दिया है कि उनके पास खिलाड़ियों के वेतन में कटौती करने के अतिरिक्त व कोई भी चारा बचा नहीं है। क्रिकेट आस्ट्रेलिया (Cricket Australia) ने भी अपने खिलाड़ियों को इस बात के इशारा दे दिए हैं। क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने अपने स्टाफ में से कुछ लोगों को जॉब से निकाल भी दिया है। हालांकि अब ये क्रिकेट बोर्ड खुद ही उन लोगों के लिए नौकरियां तलाश भी रहा है।

जून के अंत तक चली जाएगी नौकरी
दरअसल, कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण आर्थिक दिक्कतों के चलते जून अंत तक जॉब से हटाए गए अपने स्टाफ के लिए क्रिकेट आस्ट्रेलिया (Cricket Australia) प्रसिद्ध सुपरमार्केट व अपने प्रायोजकों में से एक वूलवर्थस में जॉब तलाश रहा है। क्रिकेट आस्ट्रेलिया इस समय संघीय सरकार की जॉबकीपर सपोर्ट योजना की पात्रता के मानदंडों पर खरा नहीं उतरता।

इसके मुख्य कार्यकारी केविन रॉबर्ट्स ने ‘सेन रेडियो’ से कहा, मैंने वूलवर्थस के सीईओ ब्राड बेंदुची को लेटर लिखा है। उन्हें इस समय स्टाफ की आवश्यकता भी है। हमारी टीम दूसरे संगठनों से भी बात कर रही है जिन्हें स्टाफ की आवश्यकता है। ताकि जॉब से हटाए गए लोगों को किसी दूसरी स्थान रोजगार मिल सके। ’

पांच करोड़ डॉलर का नुकसान
केविन रॉबटर्स ने बोला कि दर्शकों के बिना घरेलू अंतर्राष्ट्रीय स्तर से उनके राजस्व को नुकसान पहुंचेगा व यही वजह है कि उन्हें यह निर्णय लेना पड़ा। हमें चार से पांच करोड़ आस्ट्रेलियाई डॉलर का नुकसान होगा जो टिकटों की बिक्री से कमाए जाते। यही वजह है कि हमें ऐसे कदम उठाने पड़ रहे हैं लेकिन सिक्के का दूसरा पहलू यह है कि हम अपने लोगों की मदद के हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। ’

बता दें कि क्रिकेट आस्ट्रेलिया (Cricket Australia) में जो स्टाफ बरकरार भी रखा गया है, वह अपनी तनख्वाह के बीस फीसदी पर ही कार्य कर रहा है जबकि क्रिकेट आस्ट्रेलिया के कार्यकारी वेतन का 80 फीसदी ले रहे हैं।