2 साल से नाबालिग लड़की के साथ व्यक्ति करता था दुष्कर्म, हुई जेल

2 साल से नाबालिग लड़की के साथ व्यक्ति करता था दुष्कर्म, हुई जेल

झारखंड: सिमडेगा जिले के एक गांव में पिछले दो वर्ष से एक नाबालिग लड़की से कथित रूप से दुष्कर्म करने के आरोप में झारखंड पुलिस ने 58 वर्षीय एक आदमी को हिरासत में लिया है पुलिस ने बोला कि आरोपी को गुरुवार को पुलिस में कम्पलेन के बाद पास के जंगल से गिरफ्तार किया गया था.

बयान के अनुसार, 14 वर्षीय लड़की ने बोला कि पड़ोसी ने उसके घुतबहार कुंवरटोली गांव में उसके घर पर दो वर्ष तक उसके साथ दुष्कर्म किया, जब नाबालिग की मां कार्य के लिए बाहर गई थी. लड़की ने बोला कि आरोपी ने क्राइम करना जारी रखा और किसी को भी इस बारे में बताने पर गंभीर रिज़ल्ट भुगतने की धमकी दी. लड़की के पिता केरल में कार्यरत हैं.

पुलिस ने बोला कि लड़की ने हाल ही में अपनी मां को आपबीती सुनाई और प्राथमिकी दर्ज की गई. एक पुलिस ऑफिसर ने बोला कि आदमी को भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (POCSO) अधिनियम के अनुसार हिरासत में लिया गया है.


सिमडेगा पुलिस की कलंक कथा: रायपुर से 80 लाख की आभूषण चोरी केस में बड़ा खुलासा, बांसजोर के तालाब से मिले गहने

सिमडेगा पुलिस की कलंक कथा: रायपुर से 80 लाख की आभूषण चोरी केस में बड़ा खुलासा, बांसजोर के तालाब से मिले गहने

सिमडेगा पुलिस की कलंक कथा का पन्ना खुल गया है सूत्र बता रहे हैं कि छत्तीसगढ़ के रायपुर से चोरी हुए गहने पुलिस जवानों की निशानदेही पर तालाब से बरामद कर लिए गए हैं बता दें कि इस मुद्दे में पहले ही बांसजोर थाना प्रभारी निलंबित किये जा चुके हैं केस रायपुर से 80 लाख के गहनों की डकैती का है इस मुद्दे की पुलिस मुख्यालय के आदेश पर जाँच हुई है जो जानकारी सामने आ रही है इसके मुताबिक इस काण्ड में पुलिसकर्मियों ने रिकवर्ड किए गए जेवरातों के बारे में आधी-अधूरी जानकारी शेयर की थी और बरामद हुए गहनों की पूरी रिकवरी नहीं दिखाई गई थी पुलिसवालों से हुई पूछताछ के बाद ही ये गहने बरामद किए गए हैं हालांकि, एसपी सिमडेगा ने केवल इतनी ही पुष्टि की है कि कुछ गहने मिले हैं, पर कैसे मिले इसके खुलासे के लिए थोड़ा इन्तजार करें

बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के रायपुर में ज्वेलरी शोरूम से 80 लाख के गहनों की चोरी हुई थी मुद्दे में सिमडेगा पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान आरोपियों को हिरासत में लिया था इसके बाद सिमडेगा पुलिस ने आरोपियों के पास से चोरी के गहने बरामद किए थे हालांकि 2 दिनों तक आरोपियों को पकड़ने के बाद इसकी सूचना छत्तीसगढ़ पुलिस से छिपाई गई थी इसके बाद 2 आरोपियों की गिरफ्तारी और 25 लाख के जेवरों की रिकवरी की ही जानकारी  दी गई थी

मामले को लेकर रायपुर पुलिस ने सिमडेगा के बांसजोर ओपी के पुलिसवालों की कार्यशैली पर संभावना जाहिर की थी छत्तीसगढ़ पुलिस ने झारखंड पुलिस के वरीय ऑफिसरों के साथ सबूत शेयर किए थे
मुद्दे की गंभीरता को देखते हुए बांसजोर ओपी प्रभारी को तब सस्पेंड कर दिया गया था वहीं मुद्दे की उच्चस्तरीय जाँच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था