सुख-दुख जीवन का हिस्सा, कर्म पथ पर बढ़ना ही जिंदगी: शालिनी, जिला प्रधान ने मृतक के परिजनो से मिलकर बंधाया ढाढ़स

सुख-दुख जीवन का हिस्सा, कर्म पथ पर बढ़ना ही जिंदगी: शालिनी, जिला प्रधान ने मृतक के परिजनो से मिलकर बंधाया ढाढ़स

मनोज पांडेय की रिपोर्ट
कोडरमा। आकस्मिक घटनाओं के बाद आत्मबल से ही मिलती है जीवन में आगे बढ़ने की शक्ति। जिला परिषद प्रधान शालिनी गुप्ता ने कोडरमा और झुमरीतिलैया में विभिन्न सामाजिक और राजनीतिक व्यक्तित्व के निधन पर उनके परिजनों से मिलने पर उक्त बातें कही।

उन्होंने कहा कि सुख दुख जीवन का हिस्सा है और कर्म पथ पर बढ़ना ही जिंदगी। श्री दिगंबर जैन समाज के अध्यक्ष विमल जैन बड़जात्या एवं उनके भाई के निधन से समाज को अपूरणीय क्षति हुई है। स्व. विमल बड़जात्या जी जैन समाज ही नहीं संपूर्ण समाज के लिए धरोहर थे। चतरा के इटखोरी में बन रहे जैन मंदिर निर्माण में उनकी महती भूमिका थी और वह समाज के धार्मिक और सांस्कृतिक आयोजनों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते थे।वहीं गांधी स्कूल रोड में श्रीमती कनकलता श्रीवास्तव के परिजनों से मिलकर उन्होंने उनके साथ बिताए क्षणों को याद किया और धर्म एवं राजनीति में उनकी सक्रियता की चर्चा की। इनके अलावा ताराटांड़ निवासी ट्रांस्पोर्टर श्री पंकज शर्मा के आवास पर जाकर परिजनों से मिली और कहा कि वे स्वाभाविक रूप से हंसमुख व्यक्ति थे जिनका सुझाव भी मुझे मिलता था। वे झुमरीतिलैया काली मंदिर के समीप डेकोरेटर श्री नारायण पंडित के आवास जाकर उनके परिजनों से मिली जिनकी सड़क हादसे में मौत हो गयी थी।

जिला परिषद प्रधान शालिनी गुप्ता कोडरमा में श्री सुनील उर्फ बड़कू पांडेय के आवास भी पहुंची और परिजनों से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त किया। इस दौरान विभिन्न जगहों पर साजिद हुसैन लल्लू, संजीव समीर, सुशील अग्रवाल, अजीत वर्णवाल, अजय बड़जात्या, विवेक सहल, चंद्रशेखर जोशी, संजय पंडित, समीर श्रीवास्तव, रितेश साहू, चंचला साहू, अमित कुमार आदि मौजूद थे।


जिप प्रधान शालिनी गुप्ता ने हावड़ा जोधपुर एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की

जिप प्रधान शालिनी गुप्ता ने हावड़ा जोधपुर एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की

कोडरमा। जिला परिषद प्रधान शालिनी गुप्ता ने कोडरमा और पारसनाथ स्टेशन पर हावड़ा जोधपुर एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की है। उन्होंने इस संबंध में रेलवे मंत्रालय के साथ ही रेल मंत्री, रेलवे चेयरमैन और महाप्रबंधक को ट्वीट किया है। रविवार को इस ट्वीट में उन्होंने कहा कि 12307 और 12308 हावड़ा जोधपुर एक्सप्रेस का ठहराव 1 जून 2020 से ही झारखंड के कोडरमा जंक्शन और पारसनाथ स्टेशन पर नहीं हो रहा है।

वहीं कोहरे के कारण 12987 और 12988 सियालदह अजमेर एक्सप्रेस का परिचालन 1 दिसम्बर 2021 से 28 फरवरी 2022 तक रद्द करने की घोषणा की गयी है। ऐसे में राजस्थान के जयपुर, कोटा, अजमेर और खाटूश्याम का सम्पर्क झारखंड के लोगों से कट जाएगा। जिप प्रधान शालिनी गुप्ता ने आग्रह किया है कि उक्त ट्रेनों का ठहराव पूर्व की भांति कोडरमा और पारसनाथ स्टेशन पर किया जाय। इसके साथ ही हजारीबाग रोड स्टेशन पर भी 12801 और 12802 पुरी नयी दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस का ठहराव पूर्व की भांति शुरू किया जाय ताकि स्थानीय लोगों को दूर की यात्रा करने में सुविधा हो सके।