अफगानिस्तान में वित्तीय संकट के चलते अखबार छपने हुए बंद, आनलाइन हो रहा प्रकाशन

अफगानिस्तान में वित्तीय संकट के चलते अखबार छपने हुए बंद, आनलाइन हो रहा प्रकाशन

अफगानिस्तान में लगातार वित्तीय संकट गहराता जा रहा है। तालिबान कब्जे के बाद से लगातार हालात बिगड़ रहे हैं। आलम यह है कि अब यहां पर अखबार आनलाइन निकाला जा रहा है। मीडिया सस्थानों के पास अखबारों को प्रकाशित करने के लिए काफी वित्तियां परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं तालिबान शासनकाल में जानकारी भी नहीं मिल पा रही है। ऐसे में यहां पर अखबार आनलाइन मोड में निकाले जा रहे हैं।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान नेशनल जर्नलिस्ट्स यूनियन(Afghanistan National Journalists) ने बुधवार को बताया कि वित्तीय संकट के चलते अफगानिस्तान में लगभग 150 प्रिंट मीडिया आउटलेट्स ने पूर्व सरकार के पतन के बाद से अखबारों और पत्रिकाओं की छपाई बंद कर दी है।

वाचडाग संगठनों ने हाल ही में कहा था कि अफगान मीडिया आउटलेट्स के पास धन की कमी हो रही है और तालिबान के तहत जानकारी की कमी का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही बताया कि तालिबान शासन ने कई अफगान आउटलेट वित्तीय संकट के चलते बिना फंड के छापे जा रहे हैं। जबकि कई अफगान आउटलेट आनलाइन प्रकाशित हो रहे हैं। इसके साथ ही कई आउटलेट को बंद कर दिया गया है।


यूनियन के मुख्य कार्यकारी अहमद शोएब फाना ने कहा, अफगानिस्तान में प्रिंट मीडिया बंद हो गया है। अगर स्थिति ऐसे ही रही, तो हमे सामाजिक संकट का सामना करना पड़ सकता है।' 8 शोभ अखबार (8 Sobh newspaper) के लिए काम करने वाले पत्रकार अली हकमल की रिपोर्ट है कि आउटलेट अब आनलाइन प्रकाशित हो रहा है। उन्होंने कहा, 'लोगों को जो उम्मीद थी, हमने उसे करने का प्रयास किया। हम आनलाइन रिपोर्टिंग पर ध्यान केंद्रित करते हैं, और हम अभी भी लोगों तक जानकारी पहुंचाने की कोशिश करते हैं।'


टोलो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, अरमान मिली न्यूजपेपर एक और प्रसिद्ध अखबार है, जिसका प्रकाशन बंद हो गया है। अखबार के संस्थापक सैयद शोएब परसा ने कहा, 'हमारे यहां 22 कर्मचारी थे। अखबार बंद होने से सभी की नौकरी चली गई है। हम स्थिति सामान्य होने का इंतजार कर रहे हैं ताकि हम प्रकाशन फिर से शुरू कर सकें।'

इसके अलावा, इंटरनेशनल फेडरेशन आफ जर्नलिस्ट्स (IFJ) ने अफगानिस्तान में पत्रकारों की सुरक्षा पर चिंता व्यक्त की और देश में मीडिया की स्वतंत्रता को दबाने के लिए तालिबान की खिंचाई की।


कुवैत अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा इस दिन से पूर्ण रूप से किया जाएगा संचालित

कुवैत अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा इस दिन से पूर्ण रूप से किया जाएगा संचालित

कुवैत सिटी: कुवैत अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा रविवार 24 अक्टूबर से पूरी क्षमता से संचालन के लिए तैयार है. नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के महानिदेशक यूसेफ अल-फौजान द्वारा उद्धृत जानकारी के अनुसार, कुवैत अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा सरकार के फैसला के अनुरूप धीरे-धीरे सभी विमानन कंपनियों की वाणिज्यिक उड़ानों का संचालन करेगा.

नागरिक उड्डयन Covid-19 महामारी संकट की चुनौतियों और आवश्यकताओं के अनुसार संचालन करने में पास रहा, उन्होंने कहा, कुवैत में प्रवेश करने के लिए आवश्यक Covid-19 सुरक्षा प्रतिबंधों का पालन करने के लिए एयरलाइनरों और यात्रियों से आह्वान किया. सरकार के प्रतिनिधि तारिक अल-मेजरेम के अनुसार, सरकार ने रविवार से बिना मास्क पहने बाहरी गतिविधियों की अनुमति देने का निर्णय किया.

कुवैती सरकार ने बुधवार को देश में स्वास्थ्य प्रतिबंधों में ढील देते हुए सामान्य जीवन में धीरे-धीरे वापसी के लिए पांच चरण की योजना के आखिरी चरण की आरंभ की घोषणा की. तारेक अल-मेजरेम ने बोला है कि इसके अलावा, सरकार पूरी तरह से टीका लगाए गए लोगों के लिए सभी प्रकार के वीजा जारी करेगी.