मंत्री जमा खान के साले से मारपीट का मामला: पुलिस ने पूर्व मुखिया सहित 3 लोगों को किया गिरफ्तार

मंत्री जमा खान के साले से मारपीट का मामला: पुलिस ने पूर्व मुखिया सहित 3 लोगों को किया गिरफ्तार

कैमूर जिले के चांद थाना क्षेत्र के हसरेव गांव में 61 एकड़ जमीन को लेकर सोमवार को हुए गोलीबारी में बिहार गवर्नमेंट के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान के साले गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिसमें 7 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज हुई थी. इस मुद्दे में पुलिस ने 3 लोगों को अब तक अरैस्ट कर लिया है. अरैस्ट आरोपियों में हसरेव का पूर्व मुखिया भी शामिल है. एक आरोपी बन्ने खान की गिरफ्तारी घटना के दिन ही सदर हॉस्पिटल भभुआ से कर ली गई थी. वहीं पूर्व मुखिया दीवान फखरुद्दीन खान और इरफान खान को यूपी के दिलदारनगर से पुलिस ने अरैस्ट कर लिया है. बाकी चार आरोपियों के गिरफ्तारी के लिए पुलिस अंधाधुन्ध कर रही छापेमारी.

क्या था पूरा मामला

दरअसल सोमवार को हसरेव गांव में 61 एकड़ जमीन के टकराव को लेकर दीवान फकरुद्दीन खान और उनके भाई कमरुद्दीन खान के बीच सालों से टकराव चल रहा था, जहां जमीनी टकराव को लेकर दोनों पक्ष सोमवार को विवादित जमीन पर इकट्ठा हो गए, इसमें एक पक्ष द्वारा अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान के साले तालिब खान को गोली मार दी गई, जिन्हें गंभीर स्थिति में सदर हॉस्पिटल भभुआ लाया गया. वहां से उन्हें बनारस रेफर कर दिया गया था. इस हाथापाई में दूसरे पक्ष से भी 3 लोग घायल हुए थे, जिन्होंने अपना उपचार सदर हॉस्पिटल भभुआ में कराया था, लेकिन दूसरे पक्ष ने प्राथमिकी के लिए आवेदन चांद थाने में नहीं दिया था. वही मंत्री के साले जख्मी तालिब खान की तरफ से तैयब खान के द्वारा चांद थाने में आवेदन देकर हसरेव के पूर्व मुखिया दीवान फखरुद्दीन खान सहित सात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई थी. जिस मुद्दे में एक आरोपी बन्ने खान को उसी दिन घायल हालत में सदर हॉस्पिटल भभुआ से अरैस्ट कर लिया गया था. वही दो आरोपियों को गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने उत्तर प्रदेश के दिलदारनगर से अरैस्ट कर लिया है. वहीं भभुआ डीएसपी ने जानकारी देते हुए बताया हसरेव में जमीनी टकराव में 7 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज हुई थी, जिसमें 3 आरोपियों को अरैस्ट कर लिया गया है और 4 आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.