परिवार को बंधक बनाकर लाखों की हुई लूट, सीसीटीवी का ये वीडियो हुआ वायरल

परिवार को बंधक बनाकर लाखों की हुई  लूट, सीसीटीवी का ये वीडियो हुआ वायरल

नई दिल्ली। मध्य दिल्ली के आईपी एस्टेट स्थित माता सुंदरी रोड इलाके में दिनदहाड़े एक घर में घुसे बदमाश परिवार को बंधक बनाकर नकदी और जेवर लूटकर फरार हो गए। आईपी एस्टेट थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। '


पुलिस के मुताबिक मोटर मौकेनिक जुल्फिकार अली परिवार के साथ 27-बी, डीडीए फ्लैट में रहते हैं। बृहस्पतिवार को घर में उनकी पत्नी फरहाना, दिव्यांग मां रिहाना व शादीशुदा बहन निशा थीं। घर का दरवाजा खुला था। शाम करीब 4.15 बजे उनके घर में एक महिला व तीन लड़के घुस गए और पिस्टल व चाकू दिखाकर सबको बंधक बना लिया। आरोपियों ने महिलाओं से सोने की चेन, अंगूठियां, कुंडल आदि जेवर लूट लिए। बुजुर्ग रिहाना के पास रखे सात हजार रुपये लूट लिये। लूटपाट के दौरान जुल्फिकार का 11 वर्षीय बेटा हुसैन घर पहुंचा तो फरहाना ने उसे बाहर चले जाने को कहा। बदमाशों को लगा कि हुसैन शोर मचा देगा। वह परिवार को जान से मारने की धमकी देकर भाग गए।
इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई। कुछ ही देर में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी और क्राइम टीम मौके पर जा पहुंची। छानबीन के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। हालांकि पुलिस शुरुआती जांच के बाद मामले को संदिग्ध बता रही है। पुलिस का कहना है कि पीड़ित परिवार की किसी से रंजिश चल रही है। परिवार उस पर ही वारदात को अंजाम देने का आरोप लगा रहा है।


देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दे दी दस्तक

देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दे दी दस्तक

देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है और हर दिन बीते कल के मुकाबले 40 फीसदी से ज्यादा केस दर्ज किए जा रहे हैं। लेकिन फाइनेंशियल सर्विसेज फर्म नोमुरा (Financial services firm Nomura) का एक अनुमान डराने वाला है। फर्म ने अमेरिकी ट्रेंड से तुलना करते हुए कहा है कि यदि भारत में भी वैसी ही तेजी देखने को मिलती है तो हर दिन 3 मिलियन यानी 30 लाख तक नए केस आ सकते हैं।

यदि ऐसा होता है तो देश के हेल्थ इन्फ्रास्ट्रचर (Health infrastructure) पर भारी दबाव की स्थिति होगी। यदि द. अफ्रीका जैसा ट्रेंड रहा तो प्रतिदिन नए केसों की संख्या 7 लाख 40 हजार तक हो सकती है। बता दें कि आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर महेंद्र अग्रवाल ने भी अपने अनुमान में पीक के दौरान देश में 4 से 8 लाख तक नए केस आने की बात कही है।नोमुरा (Nomura) ने चेताया है कि तीसरी लहर के चलते भारत की आर्थिक ग्रोथ कमजोर हो सकती है, जिसमें फिलहाल सुधार देखने को मिला है। यही नहीं महंगाई में भी इजाफा हो सकता है, जिससे निपटने के लिए आरबीआई की ओर से रेपो रेट में इजाफा किया जा सकता है। नोमुरा (Nomura ने अपने अनुमान में कहा है

कि भारत, फिलीपींस और इंडोनेशिया जैसे देशों में कुल आबादी के 45 फीसदी के बराबर ही टीकाकरण हुआ है। ऐसे में संक्रमण तेजी से फैलने का रिस्क है और इससे अस्पतालों पर दबाव देखने को मिल सकता है। बता दें कि देश में लगातार दो दिनों से नए केसों का आंकड़ा 1 लाख के पार जा रहा है।नोमुरा ने अर्थव्यवस्था को लेकर भी अनुमान जताया है कि 2022 की दूसरी तिमाही में गिरावट की स्थिति देखने को मिल सकती है। इस अनुमान में कहा गया है कि 2022 के मध्य से एक्सपोर्ट में कमी का दौर शुरू हो सकता है। यदि ऐसा हुआ तो यह इकॉनमी में मंदी का संकेत होगा। बता दें कि बीते साल की तीसरी तिमाही से देश में आर्थिक गतिविधियां तेज हुई हैं। जीएसटी कलेक्शन से लेकर जीडीपी ग्रोथ तक के आंकड़ों ने बड़ी राहत दी है। लेकिन अब नोमुरा के अनुमान के मुताबिक यह बढ़त इस साल की दूसरी छमाही में कम हो सकती है।