आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए अपनाएं ये घरेलू आसान तरीके

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए अपनाएं ये घरेलू आसान तरीके

आंखों की जरिए ही हम अपने आसपास की सभी चीजों को बड़ी आसानी से और साफ तौर पर देख सकते हैं। आंखों के स्वस्थ रहने पर ही हम अपने दिनचर्या के सभी कार्यों को बड़ी आसानी से पूरा कर लेते हैं। वहीं आंखों में जब थोड़ी सी भी खराबी आ जाती है तो हमें चश्मे का सहारा लेना पड़ता है जिसके बाद हमारी आंखों को अक्सर डॉक्टरी देखभाल की जरूरत पड़ती है। हालांकि कुछ खास आदतों के जरिए और कुछ घरेलू नुस्खे अपनाकर हम अपनी आंखों को स्वस्थ बनाए रख सकते हैं। आंखों को स्वस्थ रखने के लिए नीचे कुछ खास फल और घरेलू तरीके बनाए जा रहे हैं जिसे आप नियमित रूप से इस्तेमाल करके आंखों को स्वस्थ रख सकते हैं।

​गुलाब जल
गुलाब जल आंखों के लिए काफी कारगर माना जाता है। वैसे तो यह मूड को फ्रेश करने और त्वचा को निखार देने का भी काम करता है लेकिन कुछ वैज्ञानिक अध्ययन में इस बात की पुष्टि की गई है तो गुलाब जल का सेवन आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद कर सकता है। आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए डॉक्टर की सलाह लेकर आप गुलाब जल की दो तीन बूंद को हफ्ते में दो से तीन बार आंखों में डाल सकते हैं। यहां आंखों के नीचे मौजूद डार्क सर्कल को साफ करने के लिए भी काफी मददगार साबित होगा।

​सरसों का तेल
नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ के द्वारा कई लोगों पर ट्रायल करके यह देखा गया कि सरसों का तेल इस्तेमाल करने से आंखों की रोशनी को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। ट्रायल करने के दौरान लोगों के पैरों में करीब 10 मिनट तक रोजाना सरसों के तेल की मालिश की गई और उनके देखने की क्षमता में सकारात्मक रूप से सुधार भी देखने को मिला। इसलिए वैज्ञानिक सबूतों के आधार पर आंखों की रोशनी को बढ़ाने के लिए पैरों के तलवे में सरसों के तेल से रोजाना 10 मिनट तक मालिश करें आपको सकारात्मक रूप से इसका फायदा देखने को मिलेगा।

​एक्सर्साइज करें
आंखों की देखने की क्षमता को बढ़ाने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करना भी बहुत जरूरी माना जाता है। इस पर डॉक्टरी अध्ययन भी किए गए हैं जिसमें इस बात की पुष्टि होती है कि नियमित रूप से व्यायाम करने वाले और हेल्दी वेट रखने वाले लोगों में आंखों की रोशनी काफी अच्छी होती है। वजन बढ़ने के कारण टाइप टू डायबिटीज से पीड़ित लोगों में भी आंखों की रोशनी कमजोर हो जाती है यही वजह है कि संतुलित वजन आंखों की रोशनी के लिए काफी हद तक जिम्मेदार होता है। इसलिए नियमित रूप से व्यायाम करें और अपनी आंखों को स्वस्थ रखें।

​बादाम
बादाम का सेवन करने से भी आंखों की रोशनी को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। यूनाइटेड स्टेट डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर के द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार बादाम में विटामिन-ए की भरपूर मात्रा पाई जाती है। आप चाहें तो इसे दूध के साथ ही खाने में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके जरिए आपको दूध और बादाम दोनों में मौजूद विटामिन-ए की मात्रा मिलेगी जो आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए सक्रिय रूप से कार्य करती है। ज्यादातर लोगों के द्वारा आंखों को स्वस्थ रखने के लिए बादाम मिल्क का सेवन रात को सोने से पहले जरूर किया जाता है।

​आंवला का सेवन
आंवला एक ऐसा फल है जिसे आप अलग-अलग रूपों में खा सकते हैं। इसकी चटनी से लेकर इसके अचार और मुरब्बे के साथ- जूस के रूप में भी सेवन किया जाता है। दरअसल इसमें विटामिन-सी की मात्रा पाई जाती है जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है। एंटी ऑक्सीडेंट रेटिना को स्वस्थ रखने का काम करती है। वहीं, रेटिना का स्वस्थ बने रहना हमारी आंखों की रोशनी को मेंटेन रखने में मददगार साबित होता है।

​इन फूड्स का भी करें सेवन
ऐसे कई खाद्य पदार्थ मौजूद हैं जिसका सेवन करने के कारण हमारे आंखों की रोशनी स्वस्थ बनी रहती है। इनमें प्रमुख रूप से गाजर, ब्रोकली, अखरोट, पालक और केल गिना जाता है। इसलिए इन फूड्स को अपनी डायट में शामिल करके आप अपनी आंखों की रोशनी को बढ़ा सकते हैं।


गर्भवस्था में महिलाओं को इस पोजीशन में सोना हो सकता है खतरनाक

गर्भवस्था में महिलाओं को इस पोजीशन में सोना हो सकता है खतरनाक

महिलाओं को गर्भवस्था में अपनी सेहत का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। इसके साथ ही बच्चे की सेहत को भी नुकशान पहुँच सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही सोने की पोजीशन के बारे में बताने जा रहे जो आपको राहत प्रदान कर सकती है। गर्भावस्था के अंतिम हफ्ते में गर्भवती महिलाओं का पीठ के बल सोना 10 सिगरेट पीने जितना खतरनाक हो सकता है। 

इस पोजीशन में सोना होता है खतरनाक

ऑकलैंड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों के अनुसार, जो महिला अपने गर्भावस्था के त्रैमासिक अवधि के दौरान एक तरफ मुंह करके लेटने की बजाय पीठ के बल लेटती है, तो उनके जन्म लेने वाले बच्चे का वजन कम होने की संभावना तीन गुना तक बढ़ जाती है। 


वैज्ञानिकों का मानना है कि गर्भावस्था के अंतिम दिनों में पीठ के बल लेटने से बच्चे में रक्त की आपूर्ति कम हो जाती है। पीठ के बल लेटने पर मां के बड़े हुए गर्भ आकार की वजह से गर्भ नाल संकुचित हो जाती है।


किसी भी तरह की बीमारी से बचे रहने के लिए गर्भवती महिलाओं को नियमित रूप से व्यायाम करना भी जरूरी है। व्यायाम से उनका ब्लड शुगर नियंत्रित रहने के साथ-साथ मां और बच्चे में टाइप-2 डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा भी कम होता है।


इस एक्ट्रेस की डान्स फिल्म साइन करने की उम्मीद, शेयर की फोटोज       कैटरीना 'शहनाज' ने लेटेस्ट फोटोशूट में लगाया हुस्न का तड़का, दीवाने हुए फैंस       ये अभिनेत्री ने समद्र किनारे दिखाया बोल्डनेस का जलवा, देखें तस्वीरें       बॉलीवुड एक्ट्रेस ने मनाया 45वां र्थडे, शेयर की ग्लैमरस तस्वीरें       OMG! जसलीन मथारू ने बोल्ड तस्वीरों में दिखाया हुस्न का जलवा, फैंस की थमी सांसे       भोजपुरी अभिनेत्री स्मृति सिन्हा ने करवाया बोल्ड फोटोशूट, शेयर की फोटोज       OMG! इस एक्ट्रेस की बेटी ने करवाया बोल्ड फोटोशूट       आद‍ित्य और श्वेता सात जन्मों के बंधन में बंधे, शादी की तस्वीरें हुई वायरल       सनी देओल कोरोना संक्रमित, 1 महीने से मनाली में काट रहे थे मौज       सोनाक्षी सिन्हा इस वाईट ड्रेस में गिरा रही हैं कहर       ताज होटल के बाहर नजर आए रणवीर, शूटिंग के लिए अलीबाग निकलीं ये एक्ट्रेस       OMG! इस देश में बेटी करती हैं अपने पिता से शादी, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान       मोनालिसा का ये बोल्ड अवतार सोशल मीडिया हुआ वायरल       रकुलप्रीत सिंह की नई तस्वीरों में दिखा बोल्ड अवतार, लोगों की थमी सांसें       रितेश देशमुख की पत्नी जेनेलिया की लेटेस्ट फोटो इंस्टा पर हुई वायरल       घर में तिजोरी रखने के खास नियम, इस दिशा में नहीं खुलना चाहिए दरवाजा       अगर आपके घर को लग गयी है किसी की बुरी नजर...तो अपनाएं ये कुछ टोटका       रोमांस के मामले में सबसे आगे होती ऐसी लड़कियां       आपके लव अफेयर के सारे राज खोल देती हैं आपकी हस्तरेखाएँ       इस कोने में लगाएं अपनी अपनी तस्वीर, पति-पत्नी के बीच बढ़ता है प्यार