चाइनीज शॉर्ट-वीडियो मेकिंग ऐप टिक टॉक ने की यह बड़ी घोषणा

चाइनीज शॉर्ट-वीडियो मेकिंग ऐप टिक टॉक ने की यह बड़ी घोषणा

चाइनीज शॉर्ट-वीडियो मेकिंग ऐप टिक टॉक (TikTok ) ने घोषणा की है कि टिक टॉक अब एप्पल आईफोन क्लिपबोर्ड पर लिखे टेक्स्ट को नहीं पढ़ पाएगा. यानी टिक टॉक ऐप उपभोक्ता क्लिपबोर्ड को ऑटोमेटिक एक्सेस नहीं करेगा. 

टिक टॉक ने द टेलीग्राफ को बताया कि यह उपभोक्ता को क्लिपबोर्ड में ताकझांक करने से रोक देगा. बता दें टिक-टॉक आईफोन के क्लिपबोर्ड की जासूसी करती है. एप्पल के नए iOS 14 बीटा फीचर में पता चला है कि टिक-टॉक ऐप बैकग्राउंड में आईफोन के क्लिपबोर्ड को एक्सेस करता रहता है. एप्पल ने हाल ही में कई प्राइवेसी विशेषता वाला iOS 14 अपडेट जारी किया था. इसके बाद टिक-टॉक यह बयान आया है.

रिपोर्ट में बोला गया है, "एप्पल के एक सुरक्षा पैच ने आकस्मित ही उजागर कर दिया कि स्क्रीन पर हर बार कितने Smart Phone ऐप उपयोगकर्ताओं के क्लिपबोर्ड पढ़ रहे हैं." नए iOS 14 बीटा फीचर में पता चलता है कि कौन सा ऐप बैकग्राउंड में क्या एक्सेस कर रहा है. साथ ही अगर कोई थर्ड पार्टी ऐप क्लिपबोर्ड एक्सेस करेगा तो स्क्रीन पर पॉप-अप दिखेगा. बता दें कि क्लिपबोर्ड पर कॉपी किया गया टेक्स्ट या दूसरा कंटेट टेंपरेरी तौर पर स्टोर रहता है. यह फीचर आईफोन के अतिरिक्त कई एंड्रायड स्मार्टफोन्स में भी उपस्थित है.

यहां देखिये बर्ज की स्क्रीन रिकॉर्डिंग
चाइनीज कंपनी ने बोला है कि TikTok ने स्पैम व्यवहार की पहचान करने के लिए डिज़ाइन की गई सुविधा द्वारा ट्रिगर किय था. हम किसी भी संभावित भ्रम को समाप्त करने के लिए एंटी-स्पैम फ़ीचर को हटाते हुए ऐप स्टोर का एक अपडेटेड वर्जन पहले ही दे चुके हैं. रिपोर्ट के अनुसार, आईओएस क्लिपबोर्ड को पढ़ने वाले अन्य ऐप में एक्यूवेदर, कॉल ऑफ़ ड्यूटी मोबाइल व यहां तक ​​कि Google खबर भी शामिल हैं. आईओएस-14 अब डेवलपर्स तक ही सीमित है व कंपनी की योजना अगले वर्ष लॉन्च होने से पहले अगले महीने एक सार्वजनिक बीटा संस्करण जारी करने की है. IOS 14 में, ट्रैकिंग से पहले उपयोगकर्ता की अनुमति प्राप्त करने के लिए सभी ऐप्स की जरूरत होगी.