वायरल

युवक को फेसबुक पर ऑनलइन लोन लेना पड़ा भारी

 साइबर ठग नए-नए तरीकों से लोगों को अपने जाल में फंसाकर शिकार बनाते हैं. सहारनपुर के एक युवक को फेसबुक पर ऑनलइन लोन लेना भारी पड़ गया. युवक ने फेसबुक पर प्रधानमंत्री योजना का विज्ञापन देखकर ऑनलाइन लोन ले लिया. लेकिन कुछ दिन बाद लोन चुकाने का युवक पर इतना दबाव बनाया गया कि युवक मानसिक रूप से प्रताड़ित होता चला गया, क्योंकि ठगों द्वारा लोन की रकम का दोगुना करके वसूला गया. ठगों ने युवक की फोटो को अश्लील बनाकर धमकी देते हुए अनर्गल रूप से ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. इसके बाद युवक ने साइबर क्राइम की सहायता से ठगों से छुटकारा पाया.

मनोज से वसूले गए इतने रुपए
सहारनपुर के खलासी लाइन निवासी मनोज ने बताया कि सामान्य रूप से आजकल सभी लोग सोशल मीडिया प्रयोग करते हैं. मैनें भी एक दिन सुबह फेसबुक पर ऑनलाइन के माध्यम से प्रधानमंत्री योजना के अंतर्गत आधार कार्ड व पैन कार्ड से लोन मिलने का विज्ञापन देखा. मनोज ने बताया कि मैंने भी ऑनलाइन मांगी गई सेल्फी फोटो सहित सभी औपचारिकता पूरी कर दी. इसके बाद उसके अकाउंट में 900 रुपये क्रेडिट हुए. युवक ने बताया कि दो दिन बाद ही फोन के माध्यम से उससे उक्त रकम पर ब्याज सहित 1500 रुपए लिए गए. दूसरी बार मनोज के खाते में 3600 रुपए आए, जिसके लिए उनसे 6000 रुपए वसूले गए.

फेसबुक पर ऑनलाइन ठगी का शिकार हुआ युवक
इतना ही नहीं, ठगों ने मनोज के खाते में तीसरी बार दो बार में 4800 रुपए डाले और उस रकम के बदले पीड़ित से 8000 रुपए वसूले गए. मनोज ने बताया कि उसके बाद ठगों ने उसको और पैसे देने के लिए ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. जब उसने बात नहीं मानी, तो ठगों द्वारा मनोज की फोटो के साथ छेड़छाड़ कर उसको अश्लील तरीके से बनाकर उसको ब्लेकमेंल किया, जिससे वह मानसिक रूप से टूट गया. मनोज ने बताया कि इतना होने के बाद बदनामी के डर से उसके मन मे आत्महत्या करने का विचार बना लिया. लेकिन दोस्तों की सलाह और साइबर क्राइम सेल के सहयोग से उसे इस मुश्किल से छुटकारा मिल गया.

 

सोशल मीडिया पर लोन के लिए ना करें लिंक पर क्लिक
साइबर क्राइम सेल के प्रभारी निरीक्षक पंकज त्रिपाठी ने बताया कि ठगों द्वारा लोगों को शिकार करने के प्रतिदिन नए-नए तरीके आजमाए जा रहे हैं. उन्होंने लोगो से अपील करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर, फोन के मैसेज पर लिंक भेजकर आसान तरीके से लोन देने का लालच दिया जा रहा है. किसी भी लालच में आकर अनजान लिंक को नहीं खोलना चाहिए, वरना आप ठगी का शिकार हो सकते हैं. लिंक पर क्लिक करते ही व्यक्ति की व्यक्तिगत जानकारी ठगों के पास पहुंच जाती है. प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि लोन लेने के लिए केवल बैंक को ही चुने. यदि कोई व्यक्ति इस तरह से ठगी का शिकार हो जाता है, तो वह तुरन्त दूसरे मोबाइल नंबर से टोल फ्री नंबर 1903 पर कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज कराए.

Related Articles

Back to top button