वायरल

UP में फिर लीक हुआ पेपर, वायरल हुआ इंटर का पेपर

यूपी में एक बार फिर परीक्षा के पेपर लीक की घटना सामने आई है। उत्तर प्रदेश बोर्ड के इंटरमीडिएट परीक्षा के 2 विषयों के क्वेश्चन पेपर वॉट्सएप ग्रुप पर लीक हो गए। जब इस बात की खबर शिक्षा विभाग के अफसरों को लगी तो हड़कंप मच गया। स्टेटिक मजिस्ट्रेट समेत केंद्र व्यवस्थापक के विरुद्ध शिकायत दी गई है। पूरे मामले की तहकीकात के लिए 3 सदस्य टीम गठित की गई है। गणित एवं जीव विज्ञान प्रश्नपत्र परीक्षा आरम्भ होने के एक घंटे पश्चात् ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। मिलान में प्रश्नपत्रों के कोड आदि समान पाए गए।

वही इस मामले पर DIOS की तरफ से फतेहपुर सीकरी थाने में अतर सिंह इंटर कॉलेज, रौझौली किरावली के केंद्र व्यवस्थापक समेत अन्य के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई गई। बृहस्पतिवार को इंटरमीडिएट की परीक्षा की दूसरी पाली में दोपहर 2 से 5:15 बजे तक गणित एवं जीव विज्ञान के प्रश्नपत्र कराए जा रहे थे। इसके साथ ही हाईस्कूल का कृषि का प्रश्नपत्र भी चल रहा था। लगभग 3 बजे वॉट्सएप ग्रुप पर जीव विज्ञान एवं गणित के प्रश्नपत्र की फोटोकॉपी वायरल हुई। इस ग्रुप में माध्यमिक शिक्षा विभाग के अफसर, प्रधानाचार्य एवं शिक्षक जुड़े हैं। मोबाइल पर प्रश्नपत्र देखकर शिक्षा विभाग के अफसरों के होश उड़ गए। आनन-फानन में प्रश्नपत्र को डिलीट किया गया मगर तब तक खबर फैल गई।

कहा जा रहा है कि आगरा में माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षा के सुरक्षा किले में एक कंप्यूटर ऑपरेटर ने सेंध लगा दी। सोशल मीडिया पर गणित एवं जीव विज्ञान का प्रश्न पत्रों के फोटो वायरल होने के पश्चात् शिक्षा अफसरों की नींद टूटी। फोटो वायरल करने वाले मोबाइल नंबर की जांच कराई गई। यह नंबर एक कंप्यूटर ऑपरेटर का निकला है। सोशल मीडिया पर प्रश्न पत्रों के फोटो वायरल करने वाला मोबाइल नंबर अतर सिंह इंटर कॉलेज रौझोली किरावली के कंप्यूटर ऑपरेटर विनय चौधरी का निकला है। जिला विद्यालय निरीक्षक दिनेश कुमार ने कहा कि वॉट्सएप ग्रुप पर एक मोबाइल नंबर से प्रश्न पत्रों के फोटो विनय चौधरी ने वायरल किए। उसके विरुद्ध थाना फतेहपुर सीकरी में मुकदमा दर्ज कराया गया। इसके अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक राजेंद्र सिंह, अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक गंभीर सिंह, स्टेटिक मजिस्ट्रेट डॉ।गजेंद्र सिंह के विरुद्ध भी कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

Related Articles

Back to top button