उच्चतम न्यायालय में होगी निर्भया गैंगरेप केस के एक दोषी की इस स्पेशल याचिका पर सुनवाई

उच्चतम न्यायालय में होगी निर्भया गैंगरेप केस के एक दोषी की इस स्पेशल याचिका पर सुनवाई

निर्भया गैंगरेप व हत्या केस के चार दोषियों में से एक पवन गुप्ता ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय में स्पेशल लीव पेटिशन (SLP) दाखिल की थी. अब उच्चतम न्यायालय ने इस याचिका पर सुनवाई के लिए हामी भर दी है.

दरअसल, निर्भया केस में शुक्रवार को पटियाला हाउस न्यायालय ने चारों दोषियों का दोबारा डेथ वारंट जारी किया था. हालांकि दूसरी तरफ दोषियों के एडवोकेट एपी सिंह ने बोला कि अभी फांसी देना संभव नहीं है क्योंकि चारों के विरूद्ध दिल्ली उच्च न्यायालय में लूट का एक मुद्दा लंबित है.

वहीं, इसके बाद एक दोषी पवन गुप्ता ने उच्चतम न्यायालय में एक विशेष याचिका (SLP) दायर की है. शनिवार को उच्चतम न्यायालय ने इस याचिका पर सुनवाई के लिए हामी भरते हुए इसकी तारीख 20 जनवरी को मुकर्रर कर दी.

बता दें कि 16 दिसंबर 2012 की रात दिल्ली में निर्भया के साथ की गई हवस के दोषियों को एक बार फिर से पटियाला हाउस न्यायालय ने फांसी की सजा सुनाई. न्यायालय ने आगामी 1 फरवरी की प्रातः काल 6 बजे चारों दोषियों को फांसी देने का डेथ वारंट जारी किया.

निर्भया केस में दोषियों के एडवोकेट का सबसे बड़ा दावा, जब तक नहीं हो जाता केस का निपटारा तब तक फांसी संभव नहीं

लेकिन इसके बाद केस के चार दोषियों अक्षय, विनय, मुकेश व पवन में से एक पवन गुप्ता उच्चतम न्यायालय पहुंचा. पवन गुप्ता ने उच्चतम न्यायालय में स्पेशल लीव पेटिशन (SLP) दायर की. इस याचिका में पवन ने दावा किया है कि जिस वक्त यह क्राइम हुआ, वह नाबालिग था व दिल्ली उच्च न्यायालय ने इस तथ्य को दरकिनार किया.