दुनिया का सबसे खतरनाक चिड़ियाघर, जहां पिंजरे में कैद होकर जाते हैं टूरिस्ट

दुनिया का सबसे खतरनाक चिड़ियाघर, जहां पिंजरे में कैद होकर जाते हैं टूरिस्ट

आपको ये जानकर भले ही अजीब लग रहा होगा या फिर आपको इस बात पर यकीन ना हो रहा होगा, लेकिन ये बात एकदम सच है। चीन का लेहे लेदु वाइल्ड लाइफ जू इसी तरह का चिड़ियाघर है। यहां खूंखार जानवर हमेशा खुलेआम घूमते हैं, उन्हें देखने के लिए लोग पिंजरों में कैद होकर आते हैं। यहां तक कि कई बार शेर और चीता जैसे खूंखार जानवर उनके इतने पास पहुंच जाते हैं लोगों की चीख निकल जाती है।

चीन का यह वाइल्ड लाइफ चिड़ियाघर चौंगक्विंग शहर में स्थित है। साल 2015 में इस चिड़ियाघर को खोला गया था। लेहे लेदु वाइल्डलाइफ जू नामक इस चिड़ियाघर में इंसानों को जानवरों के करीब जाने का बहुत ही अनोखा मौका मिलता है। सैलानी यहां के जानवरों को अपने हाथों से खाना भी खिला सकते हैं।


 
यहां इंसानों को पिंजरों में भरकर जानवरों के आसपास लाया जाता है। इस दौरान शेर इंसानों को पिंजरे में देखकर ललचाते रहते हैं। वह उन्हें खाने के लालच में पिंजरे के पास आ जाते हैं। यहां तक कि वह पिंजरे के ऊपर भी चढ़ जाते हैं, लेकिन पिंजरा होने की वजह से वह किसी को अपना शिकार नहीं बना पाते।

वाइल्ड लाइफ जू के संरक्षकों के अनुसार, अपने दर्शको को हम सबसे अलग और रोमांचकारी अनुभव करवाते हैं। जू के प्रवक्ता चान लियांग ने कहा कि जब कोई जानवर आपका पीछा करता है अथवा जब वह हमला करता है, हम उस वक्त के अनुभव को अपने दर्शकों को महसूस करवाना चाहते हैं। चिड़ियाघर में घूमने आए लोगों की सुरक्षा को लेकर यहां सख्त निर्देश दिए जाते हैं।

इसके अलावा सुरक्षा को लेकर इस चिड़ियाघर में पुख्ता इंतेजाम किये गये हैं। 24 घंटे कैमरों से पिंजरों और जानवरों पर निगाह रखी जाती है। आपातकाल स्थिति में सिर्फ 5 से 10 मिनट में मदद पहुंचाई जाती है। जिससे किसी को कोई चोट ना पहुंचे।


OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार

OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार

तिरुवनंतपुरम: केरल में लोगों को कुत्तों से अधिक डर बिल्लियों का है और प्रदेश में पिछले कुछ सालों में बिल्लियों के काटने के मुद्दे कुत्तों के काटने की तुलना में कहीं अधिक सामने आए हैं इस वर्ष केवल जनवरी माह में ही बिल्लियों के काटने के 28,186 मुद्दे सामने आए जबकि कुत्तों के काटने के 20,875 मुद्दे थे

राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने हाल ही में एक आरटीआई (सूचना का अधिकार) के उत्तर में यह जानकारी दी

राज्य स्वास्थ्य निदेशालय के अनुसार, पिछले कुछ सालों से बिल्लियों के काटने का उपचार कराने वालों की संख्या कुत्तों के काटने का उपचार कराने वालों से अधिक है

आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ष केवल जनवरी में बिल्लियों के काटने के 28,186 मुद्दे सामने आए जबकि कुत्तों के काटने के 20,875 मुद्दे थे प्रदेश के पशु संगठन, ‘एनिमल लीगल फोर्स’ द्वारा दाखिल आरटीआई के उत्तर में यह आंकड़े दिए गए इसमें 2013 और 2021 के बीच कुत्तों और बिल्लियों द्वारा काटने के आंकड़ों के साथ ‘एंटी-रेबीज’ टीके और सीरम पर खर्च की गई राशि की भी जानकारी दी गई है

आंकड़ों के अनुसार, 2016 से बिल्लियों के काटने के मुद्दे में वृद्धि हुई है 2016 में बिल्लियों से काटने का 1,60,534 इतने लोगों ने उपचार कराया जबकि कुत्तों के काटने के 1,35,217 मुद्दे सामने आए 2017 में बिल्लियों के काटने के 1,60,785 मामले, 2018 में 1,75,368 और 2019 और 2020 में यह बढ़कर क्रमश: 2,04,625 और 2,16,551 हो गए दक्षिणी प्रदेश में 2014 से लेकर 2020 तक बिल्लियों के काटने के मामलों में 128 फीसदी वृद्धि हुई

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 2017 में कुत्तों के काटने के 1,35,749, साल 2018 में 1,48,365, साल 2019 में 1,61,050 और साल 2020 में 1,60,483 मुद्दे सामने आए रेबीज से पिछले वर्ष पांच लोगों की मृत्यु हुई थी


नासा के रोवर परसिवरेंस ने मार्स पर देखी धरती पर मौजूद वॉल्‍केनिक रॉक जैसी चट्टान       दस वर्ष बाद पहली बार आज मिलेंगे बाइडन और पुतिन, तनातनी के बीच जानें       अब तक चोरी की घटना का कोई सुराग नहीं,पीड़ित परिवार से मिलकर जिला प्रधान ने जाना हाल-चाल, शहर की विधि व्यवस्था पर एसपी से करूंगी बात: शालिनी       भारतीय मूल की सरला विद्या बनीं अमेरिका में संघीय जज, बाइडन ने किया मनोनीत       सरला से बढ़ा भारत का मान, बाइडन ने किया कनेक्टिकट राज्‍य का संघीय जज मनोनीत, जानें       बाइडन ने पुतिन को कहा था 'हत्‍यारा', जानें- जिनेवा में उनसे मुलाकात के पूर्व कैसे पड़े नरम, कही ये बात       अंतरिक्ष में Manned Mission को तैयार चीन, कल रवाना होंगे तीन एस्‍ट्रॉनॉट्स       रेडिएशन लीकेज से चीन का इनकार, कहा...       पाक सेना प्रमुख बाजवा ने अफगानिस्तान के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ...       पाक की संसद में जमकर हुआ हंगामा, सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने एक दूसरे पर फेंके बजट के दस्तावेज       सिंध में पैसे देकर कोई कुछ भी कर सकता है, प्रांत में नहीं है सरकार जैसी कोई चीज- चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्‍तान       कुलभूषण जाधव मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई 5 अक्टूबर तक टाली       पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह       फेक न्यूज प्रसारित करने वालों पर सीएम योगी सख्त, बोले- संप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश नहीं स्वीकार       इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में इस वर्ष नहीं बढ़ेगी फीस, योगी सरकार का बड़ा फैसला       सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान में सीएम वर्चुअल, जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं       नीतीश कुमार ने कहा कि बारिश और बाढ़ के मद्देनजर पूरी तरह से अलर्ट रहे आपदा प्रबंधन विभाग       तीसरी लहर से लड़ने को नोएडा जिम्स अब डॉक्टर-पैरामेडिकल स्टाफ को कर रहा तैयार       UP School Reopening: क्या एक जुलाई से खुलेंगे स्कूल ?       चिराग-नीतीश की अदावत के बीच पिस रही भाजपा