एनएच 104 के निर्माण में लगी एजेंसी के सुपरवाइज के किडनैपिंग के बाद पुलिस ने किया बरामद

एनएच 104 के निर्माण में लगी एजेंसी के सुपरवाइज के किडनैपिंग के बाद पुलिस ने किया बरामद

एनएच 104 के निर्माण में लगी एजेंसी के सुपरवाइज के किडनैपिंग के बाद पुलिस ने उसे बरामद कर लिया है. किडनैपिंग की वारदात को शनिवार दोपहर में अंजाम दिया गया व शाम तक उसकी बरामदगी हो गयी. 

घटना जयनगर थानाक्षेत्र के कमलावाड़ी पिपराटोल के निकट की है.
मिली जानकारी के मुताबिक कंस्ट्रक्शन कंपनी से लोकल अपराधियों ने रंगदारी मांगी थी. रंगदारी नहीं देने पर शनिवार दोपहर बाइक पर सवार होकर दो क्रिमिनल पहुंचे व हावई फायरिंग कर  कंस्ट्रक्शन कंपनी के सुपरवाइजर अशोक सिंह को एजेंसी की ही गाड़ी से अगवा कर लिया. अपराधियों ने अपनी बाइक वहीं छोड़ दी. घटना की सूचना पुलिस को मिली व निशानदेही के आधार पर पुलिस निकली. थोड़ी देर बाद पुलिस घटना को अंजाम देनेवालों में एक क्रिमिनल कंस्ट्रक्शन कंपनी की उसी गाड़ी को लेकर वापस घटना स्थल की ओर जा रहा था. बताया जाता है कि वह घटना स्थल पर छोड़े हुए अपनी बाइक को लाने जा रहा था. बीच रास्ते में पुलिस से उसकी भिड़त हो गयी व उसे अरैस्ट कर लिया.
उसकी निशान देही पर एसपी डॉ सत्य प्रकाश ने एसडीपीओ सुमित कुमार के नेतृत्व में टीम बनायी व छापेमारी प्रारम्भ कर दी गयी. व शाम पांच बजे तक अशोक सिंह को भी छुड़ा लिया गया व घटना में शामिल अपराधियों को भी पकड़ लिया गया.
फिल्मी स्टाइल में पुलिस पर तान दिया पिस्तौल: बताया जाता है कि अशोक सिंह छुपाकर जब क्रिमिनल नंद लाल यादव कंस्ट्रक्शन कंपनी की गाड़ी से अपनी बाइक लाने घटनास्थल की ओर जा रहा था तो सामने पुलिस की जीप देखी. क्रिमिनल ने एक हाथ से गाड़ी की स्टेयरिंग व दूसरी हाथ से पुलिस की ओर पिस्तौल तान दी. इसी बीच उसकी गाड़ी सीधे जाकर पुलिस की गाड़ी से टकरायी. नंदलाल यादव ने गाड़ी से निकलकर भागना प्रारम्भ कर दिया. पुलिस ने उसे खदेड़कर पकड़ा. एसडीपीओ सुमित कुमार ने बताया कि अपहृत सुपरवाइजर अशोक सिंह को बरामद कर लिया गया है. वहीं घटना में शामिल अपराधियों की भी गिरफ्तारी हुई है.
कहे एसपी
पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए अपहृत को बरामद कर लिया है. कंस्ट्रक्शन कंपनी की सुरक्षा बढ़ायी जाएगी. वहीं अपराधियों की गिरफ्तारी में लगे पुलिस की टीम के सभी सदस्यों को पुरस्कृत किया जाएगा.