लॉकडाउन के दौरान पुलिस ने दो एम्बुलेंस को लिया हिरासत मे, जाने कारण

लॉकडाउन के दौरान पुलिस ने दो एम्बुलेंस को लिया हिरासत मे, जाने कारण

लॉकडाउन में घर जाने के लिए अस्पताल के फर्जी दस्तावेज तैयार कर दो एंबुलेंस से बिहार के चंपारण जा रहे 16 लोगों को गुरुग्राम की बादशाहपुर थाना पुलिस गुरुवार को वाटिका चौक से अरैस्ट कर उन पर केस दर्ज किया है.

पुलिस ने सभी 16 आरोपियों को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर सभी को कारागार भेज दिया है. फर्जी चिकित्सक व फर्जी दस्तावेज तैयार करने वाले मास्टर माइंड सुरेश कुमार को भी पुलिस ने गुरुवार शाम को अरैस्ट कर लिया व उसे शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया जएगा.

पुलिस जाँच में सामने आया है कि 16 लोगों को चंपारण पहुंचाने के लिए मास्टरमाइंड सुरेश ने उनसे 56 हजार रुपये लिए थे. पुलिस को संभावना है कि होने कि सम्भावना है आरोपी द्वारा पहले भी कई लोगों को ऐसे भेजा गया हो. पुलिस ने आरोपियों से दो एम्बुलेंस व फर्जी दस्तावेजों को बरामद किया है.

वाटिका चौक से किया अरैस्ट : वाटिका चौक पर बैरिकेड लगाकर पुलिस जाँच कर रही थी, तभी सुभाष चौक की तरफ से दो एम्बुलेंस आईं. दोनों एम्बुलेंस में 16 लोग सवार थे, जबकि दो लोगों के हाथ में ड्रिप लगी हुई थी. संदेह होने पर पुलिस ने उन लोगों से पूछताछ की तो एम्बुलेंस चालकों ने बताया कि वो गुरुग्राम के वैदिक अस्पताल से मरीज लेकर आए हैं, जब उनके द्वारा दिखाए गए मरीजों के दस्तावेजों पर लिखे नंबर पर फोन कर इसकी सत्यता जांची गई तो सारा मुद्दा सामने आ गया.