देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दे दी दस्तक

देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दे दी दस्तक

देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है और हर दिन बीते कल के मुकाबले 40 फीसदी से ज्यादा केस दर्ज किए जा रहे हैं। लेकिन फाइनेंशियल सर्विसेज फर्म नोमुरा (Financial services firm Nomura) का एक अनुमान डराने वाला है। फर्म ने अमेरिकी ट्रेंड से तुलना करते हुए कहा है कि यदि भारत में भी वैसी ही तेजी देखने को मिलती है तो हर दिन 3 मिलियन यानी 30 लाख तक नए केस आ सकते हैं।

यदि ऐसा होता है तो देश के हेल्थ इन्फ्रास्ट्रचर (Health infrastructure) पर भारी दबाव की स्थिति होगी। यदि द. अफ्रीका जैसा ट्रेंड रहा तो प्रतिदिन नए केसों की संख्या 7 लाख 40 हजार तक हो सकती है। बता दें कि आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर महेंद्र अग्रवाल ने भी अपने अनुमान में पीक के दौरान देश में 4 से 8 लाख तक नए केस आने की बात कही है।नोमुरा (Nomura) ने चेताया है कि तीसरी लहर के चलते भारत की आर्थिक ग्रोथ कमजोर हो सकती है, जिसमें फिलहाल सुधार देखने को मिला है। यही नहीं महंगाई में भी इजाफा हो सकता है, जिससे निपटने के लिए आरबीआई की ओर से रेपो रेट में इजाफा किया जा सकता है। नोमुरा (Nomura ने अपने अनुमान में कहा है

कि भारत, फिलीपींस और इंडोनेशिया जैसे देशों में कुल आबादी के 45 फीसदी के बराबर ही टीकाकरण हुआ है। ऐसे में संक्रमण तेजी से फैलने का रिस्क है और इससे अस्पतालों पर दबाव देखने को मिल सकता है। बता दें कि देश में लगातार दो दिनों से नए केसों का आंकड़ा 1 लाख के पार जा रहा है।नोमुरा ने अर्थव्यवस्था को लेकर भी अनुमान जताया है कि 2022 की दूसरी तिमाही में गिरावट की स्थिति देखने को मिल सकती है। इस अनुमान में कहा गया है कि 2022 के मध्य से एक्सपोर्ट में कमी का दौर शुरू हो सकता है। यदि ऐसा हुआ तो यह इकॉनमी में मंदी का संकेत होगा। बता दें कि बीते साल की तीसरी तिमाही से देश में आर्थिक गतिविधियां तेज हुई हैं। जीएसटी कलेक्शन से लेकर जीडीपी ग्रोथ तक के आंकड़ों ने बड़ी राहत दी है। लेकिन अब नोमुरा के अनुमान के मुताबिक यह बढ़त इस साल की दूसरी छमाही में कम हो सकती है।


सिगरेट के चक्कर में लड़की ने कर ली आत्महत्या

सिगरेट के चक्कर में लड़की ने कर ली आत्महत्या

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर में 11वीं क्लास की एक स्टूडेंट को सिगरेट पीने की वजह से सुसाइड करनी पड़ी. यह मामला सुनकर हर किसी के होश उड़ गए. जी दरअसल कुछ स्कूली दोस्तों ने लड़की की सिगरेट पीते हुए फोटो अपने मोबाइल में क्लिक कर ली थी और उसके बाद वह इसे वायरल करने की धमकी देने लगे थे. इसी बात से आहत छात्रा ने अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. अब पुलिस इस मुद्दे की जांच में जुट गई है. इस मुद्दे में मिली जानकारी के अनुसार सिलिकॉन सिटी क्षेत्र में रहने वाली एक लड़की शहर के नामी प्राइवेट विद्यालय में 11वीं क्लास की स्टूडेंट थी.

जी हाँ और उसके पिता बच्चों के चिकित्सक हैं और मां पड़ोसी जिले बड़वानी में नर्स हैं. बीते सोमवार शाम को छात्रा के माता-पिता किसी काम से घर से बाहर गए हुए थे और छोटी बहन (10 साल) और भाई (4 साल) बिल्डिंग के नीचे खेल रहे थे. इसी बीच छात्रा कमरे में फांसी के फंदे पर झूल गई. वहीं शाम को जब माता-पिता वापस आए तो उन्होंने बेटी फंदे पर लटकते देखा और बचाने की प्रयास की लेकिन तब तक लड़की मर चुकी थी. मरने से पहले बीते शनिवार को छात्रा ने अपने पिता को बताया था कि उसने एक दिन कोचिंग से छूटते समय अपने दोस्तों के साथ सिगरेट पी ली थी और उसी दौरान कोचिंग में ही पढ़ने वाले 2 विद्यार्थी और एक छात्रा ने अपने मोबाइल से उसका फोटो क्लिक कर लिया था.

उसके बाद तीनों क्लासमेट उसे यह कहकर ब्लैकमेल करने लगे कि स्मोकिंग करने की फोटो तुम्हारे पापा-मम्मी को भेजेंगे. हालांकि, इस बात पर पिता ने बेटी को उसे माफ कर दिया था. हालाँकि फिर भी छात्रा को डर था कि दोस्त उसके फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे और इसी को लेकर वह तनाव में चल रही थी. इस मुद्दे में थाना राजेन्द्र नगर के जांच अधिकारी श्याम जोशी ने बताया कि इस मुद्दे में पुलिस ने परिजनों के बयान ले लिए और आगे की कार्रवाई की जा रही है.