पहले दिन से बढ़ रहे है टीकाकरण के लिए लोग, डाॅ रणदीप गुलेरिया ने भी लिया डोज

पहले दिन से बढ़ रहे है टीकाकरण के लिए लोग, डाॅ रणदीप गुलेरिया ने भी लिया डोज

आज देश भर में कोरोना वैक्सीन का प्रिकाॅशन डोज (Covid Precautions Dose) दिया गया. प्रिकाॅशन डोज की शुरुआत के साथ ही आज पहले दिन नौ लाख से अधिक डोज दिये गये. एम्स के डायरेक्टर डाॅ रणदीप गुलेरिया (AIIMS Director Dr. Randeep Guleria) ने भी प्रिकाॅशन डोज लिया.आज देश भर में 82 लाख कोविड वैक्सीन दिया गया, जिसमें से नौ लाख प्रिकाॅशन डोज दिया गया. इसके साथ ही देश में कोविड वैक्सीन का आंकड़ा 152.78 करोड़ डोज हो गया है.

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण (corona virus infection) में अप्रत्याशित वृद्धि के बाद सरकार ने प्रिकाॅशन डोज देने की शुरुआत की है.स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के अनुसार लगभग 2.75 करोड़ लोगों की कोविड वैक्सीन के प्रिकाॅशन डोज के लिए चयनित किया गया है. देश में प्रिकाॅशन डोज दिये जाने की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने 24 दिसंबर को की थी और आज 10 जनवरी 2022 से इसकी शुरुआत हुई है.दिल्ली में करीब तीन लाख लोग कोविड-19 के टीके की प्रिकाॅशन डोज लेने के पात्र हैं.

इन्होंने नौ महीने पहले वैक्सीन की दूसरी खुराक ली थी. गौरतलब है कि देश में रविवार को एक लाख 80 हजार के करीब कोरोना संक्रमित मिले थे, जिसकी वजह से सरकारों ने कोरोना पांबदियों को बढ़ाया है और वैक्सीनेशन को बढ़ाने पर जोर दिया है.दिल्ली में आज 19 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित मिले हैं और 17 लोगों की मौत हुई है, जबकि महाराष्ट्र में 33,470 नये केस सामने आये हैं और आठ लोगों की मौत हुई है. बिहार में चार हजार से अधिक संक्रमित मिले हैं.आज देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कोरोना पाॅजिटिव पाये गये. उनके साथ ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी कोरोना पाॅजिटिव पाये गये हैं. केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट और कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई भी कोरोना पाॅजिटिव पाये गये हैं.


सिगरेट के चक्कर में लड़की ने कर ली आत्महत्या

सिगरेट के चक्कर में लड़की ने कर ली आत्महत्या

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर में 11वीं क्लास की एक स्टूडेंट को सिगरेट पीने की वजह से सुसाइड करनी पड़ी. यह मामला सुनकर हर किसी के होश उड़ गए. जी दरअसल कुछ स्कूली दोस्तों ने लड़की की सिगरेट पीते हुए फोटो अपने मोबाइल में क्लिक कर ली थी और उसके बाद वह इसे वायरल करने की धमकी देने लगे थे. इसी बात से आहत छात्रा ने अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. अब पुलिस इस मुद्दे की जांच में जुट गई है. इस मुद्दे में मिली जानकारी के अनुसार सिलिकॉन सिटी क्षेत्र में रहने वाली एक लड़की शहर के नामी प्राइवेट विद्यालय में 11वीं क्लास की स्टूडेंट थी.

जी हाँ और उसके पिता बच्चों के चिकित्सक हैं और मां पड़ोसी जिले बड़वानी में नर्स हैं. बीते सोमवार शाम को छात्रा के माता-पिता किसी काम से घर से बाहर गए हुए थे और छोटी बहन (10 साल) और भाई (4 साल) बिल्डिंग के नीचे खेल रहे थे. इसी बीच छात्रा कमरे में फांसी के फंदे पर झूल गई. वहीं शाम को जब माता-पिता वापस आए तो उन्होंने बेटी फंदे पर लटकते देखा और बचाने की प्रयास की लेकिन तब तक लड़की मर चुकी थी. मरने से पहले बीते शनिवार को छात्रा ने अपने पिता को बताया था कि उसने एक दिन कोचिंग से छूटते समय अपने दोस्तों के साथ सिगरेट पी ली थी और उसी दौरान कोचिंग में ही पढ़ने वाले 2 विद्यार्थी और एक छात्रा ने अपने मोबाइल से उसका फोटो क्लिक कर लिया था.

उसके बाद तीनों क्लासमेट उसे यह कहकर ब्लैकमेल करने लगे कि स्मोकिंग करने की फोटो तुम्हारे पापा-मम्मी को भेजेंगे. हालांकि, इस बात पर पिता ने बेटी को उसे माफ कर दिया था. हालाँकि फिर भी छात्रा को डर था कि दोस्त उसके फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे और इसी को लेकर वह तनाव में चल रही थी. इस मुद्दे में थाना राजेन्द्र नगर के जांच अधिकारी श्याम जोशी ने बताया कि इस मुद्दे में पुलिस ने परिजनों के बयान ले लिए और आगे की कार्रवाई की जा रही है.