लेटैस्ट न्यूज़वायरल

भाजपा प्रत्याशी बहादुर सिंह कोली को अपने बड़बोलेपन का उठाना पडा खामियाजा


भरतपुर. भरतपुर की वैर विभानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी बहादुर सिंह कोली को अपने बड़बोलेपन का खामियाजा उठाना पड़ा है. बहादुर सिंह कोली को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजकर 3 दिन में उत्तर मांगा है. भरतपुर की वैर विभानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी बहादुर सिंह कोली का एक वीडियाे वायरल हुआ था जिसमें वो कलेक्टर, एसपी, थानेदार और सीएम को पीटने की बात कर रहे थे. वीडियो वायरल होने के बाद रिटर्निंग अधिकारी ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए नोटिस भेजकर उनसे तीन दिन में उत्तर मांगा है. इस पर बहादुर सिंह कोली ने सफाई देते हुए बोला है कि पीटने से मेरा मतलब लात घूंसे से नहीं चुनाव में हराने से था.

बता दें कि यह वीडियो वैर विधानसभा क्षेत्र के गांव खेरला का है. बीजेपी प्रत्याशी बहादुर सिंह कोली 8 नवंबर को खेरला में गए थे. वहां सभा को संबोधित करते समय विवादित बातें कही थी. उन्होंने बोला था मैंने एसपी को पीटा, थानेदार को पीटा और सीएम को भी पीटा है.

भाजपा प्रत्याशी बहादुर सिंह कोहली के भाषण को आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए वैर के रिटर्निंग अधिकारी ललित मीणा ने नोटिस दिया है. नोटिस में लिखा है कि बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति के खेर्रा गांव में सभा आयोजित की गई. जिसमें मुख्यमंत्री, प्रशासनिक अधिकारी, पुलिस ऑफिसरों के खिलाफ अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया, जो कि आचार संहिता के उल्लंघन की श्रेणी में आता है. इससे सामाजिक विद्वेष की भावना भड़कने, सौहार्द्र बिगड़ने की आसार है, इसलिए बयान के संबंध में तीन दिन में उत्तर पेश करें.
मामले पर कोली ने दी सफाई

वीडियो वायरल होने के बाद बीजेपी प्रत्याशी बहादुर सिंह कोली ने अपने वायरल वीडियो के बयान पर सफाई देते हुए कहा- प्रचार के दौरान कुछ गुर्जर भाई बोल रहे थे कि आप सुस्त मत रहो, हम ही पटक लेंगे. मैं चार चुनाव लड़ चुका हूं. मैंने मुख्यमंत्री को और चिकित्सक को भी हराया है. आईएएस को भी हराया है. पीटने से मेरा मतलब लात घूंसा चलाने से नहीं, बल्कि चुनावों में हराने से है.

 

Related Articles

Back to top button