लेटैस्ट न्यूज़वायरल

अनुराग ठाकुर ने नई फिल्म नीति का किया घोषणा,नई फिल्म नीति में हैं ये संभावनाएं

गोवा: हिंदुस्तान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने मंगलवार को नयी फिल्म नीति का घोषणा किया है. इस नीति में न केवल हिंदुस्तान को बड़े और मीडियम बजट के इंटरनेशनल फिल्म प्रोजैक्ट्स के आकर्षण का केंद्र बनाए जाने की मंशा शामिल है, बल्कि यहां विदेशी फिल्म प्रोडक्शन में आ रही मुश्किलों को सरल करने समेत कई बातों पर बल दिया गया है. इस नीति के मुताबिक आधुनिकता को समेटे हुए एनीमेशन, विजुअल इफेक्ट्स और पोस्ट प्रोडक्शन इंडस्ट्री को बढ़ावा मिलने की भी आस है. आइए नयी फिल्म नीति की कुछ बड़ी बातों पर थोड़ा विस्तार से नजर डालते हैं.

नई फिल्म नीति में हैं ये संभावनाएं

  • गोवा के श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में सोमवार 20 नवंबर को प्रारम्भ होकर 29 नवंबर तक चलने वाले 54वें भारतीय तरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) के मंच से केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि राष्ट्र की गवर्नमेंट नयी फिल्म निर्माण नीति लाने की तैयारी में है. यह नीति दुनिया की बेहतरीन फिल्म नीतियों में से एक होगी. इस नीति का जिक्र करते हुए मंत्री ने बोला कि इससे न सिर्फ़ दक्षिण पूर्व एशिया में, बल्कि विश्व स्तर पर फिल्म बाजार की अहम किरदार होगी.
  • केंद्रीय मंत्री के घोषणा पर गौर करें तो नयी फिल्म नीति में विदेशी फिल्मों के निर्माण को प्रोत्साहित करने पर बल दिया गया है. पिछले वर्ष कान्स फिल्म फेस्टिवल में की गई भारतीय बाजार 30% विदेशी फिल्मों को स्थान देने की पेशकश को बढ़ाते हुए 40% किया जा सकता है. इससे न केवल मीडियम और बड़े बजट की विदेशी फिल्में भारतीय फिल्म बाजार की शान बढ़ाएंगी, बल्कि यहां विदेशी फिल्मों के प्रोडक्शन को सरल बनाने और इनके प्रोमोशन को प्रोत्साहित करने की प्रक्रिया को बल मिलेगा.
  • भारतीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की तरफ से साझा की गई जानकारी के अनुसार नयी फिल्म नीति के अस्तित्व में आ जाने के बाद पर्यटन और संस्कृति को बढ़ावा देने के साथ-साथ इस फिल्म निर्माण उद्योग में रोजगार सृजन इससे जुड़े लोगों को आर्थिक प्रोत्साहन दिए जाने के लक्ष्य को हासिल करने में सहायता मिलेगी. इस पहल से आधुनिकता को समेटे हुए एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्स (AVGC) के अतिरिक्त पोस्ट प्रोडक्शन इंडस्ट्री को बढ़ावा मिलने की पूरी-पूरी आस है.

जिस मंच से अनुराग ठाकुर ने नयी फिल्म नीति के कई अहम पहलुओं को शेयर किया है, वहां 75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो (CMOT) के सहभागियों को प्रमाण-पत्र देते हुए उन्होंने विजेताओं के लिए 48 आवर फिल्म चैलेंज की आरंभ की. इस दौरान उन्होंने बोला कि फिल्म इंडस्ट्री में क्रिएटीविटी लाने, रोजगार के नए अवसर पैदा करने, अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने, उत्कृष्ट कलाकारों को संरक्षण देने के लिए हिंदुस्तान गवर्नमेंट पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

 

Related Articles

Back to top button